Home » इंडिया » Watch: Man hit by speeding tempo, dies. Onlookers offer no help; one steals his mobile
 

वीडियो: वो तड़पता रहा लोग गुजरते रहे, दिल्ली में 'मर' गई इंसानियत

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 7:46 IST
(एएनआई)

देश की राजधानी दिल्ली में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. ये घटना दिल्ली के सुभाष नगर इलाके की है जहां सड़क किनारे चल रहे एक शख्स को तेज रफ्तार टेम्पो ने टक्कर मार कर घायल कर दिया.

हादसे के बाद लहूलुहान ये शख्स करीब एक घंटे तक सड़क पर तड़पता रहा, लेकिन कोई भी व्यक्ति उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया और आखिर में उसने दम तोड़ दिया. ये घटना सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई.

मतिबूल को नहीं मिली मदद

पुलिस के मुताबिक मृतक का नाम मतिबूल है और वह मूल रूप से पश्चिम बंगाल का रहने वाला था. मतिबुल तिहाड़ गांव में किराए पर अकेला रहता था. मतिबुल दिन में ई-रिक्शा चलाता था जबकि रात में सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करता था.

सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहा है कि टक्‍कर मारने के बाद टेम्पो ड्राइवर घायल मतिबुल के पास आता है, लेकिन तुरंत वहां से भाग जाता है. इस बीच कई लोग वहां से गुजरे लेकिन किसी ने मतिबुल की मदद नहीं की. 

मोबाइल पर किया हाथ साफ

हद तो तब हो गई जब एक रिक्शा वाला घायल पड़े मतिबुल का फोन उठाकर भाग खड़ा हुआ. पुलिस के अनुसार हादसे के बाद पूरे 90 मिनट तक मतिबुल घायल हालत में सड़क किनारे पड़ा रहा, लेकिन किसी ने उसे अस्पताल नहीं पहुंचाया.

पुलिस को 6 बजकर 40 मिनट पर सूचना दी गई, लेकिन पुलिस जब घटनास्थल पर पहुंची तो ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हो चुकी थी. पुलिस का कहना है कि अगर घायल को समय से अस्पताल पहुंचा दिया जाता तो उसकी जान बच सकती थी.

दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर (साउथ-वेस्ट) दीपेंद्र पाठक ने एएनआई को बताया कि ये बहुत ही अमानवीय हिट एंड रन का मामला है. 

पुलिस के मुताबिक मतिबूल के परिवार में उसकी पत्नी और तीन बेटियां हैं. वह परिवार में कमाने वाला अकेला शख्स था. पुलिस अब टेम्पो चालक और मतिबूल का मोबाइल चुराने वाले की तलाश कर रही है.

First published: 11 August 2016, 3:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी