Home » इंडिया » West Bengal communal violence: 25 arrested, Mamata sees BJP hand in provoking riots
 

पश्चिम बंगाल हिंसाः ममता ने लगाया भाजपा पर दंगे भड़काने का आरोप

सुलग्ना सेनगुप्ता | Updated on: 22 December 2016, 8:31 IST

पश्चिम बंगाल पुलिस ने हावड़ा जिले के धूलागढ़ कस्बे में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के सिलसिले में 25 लोगों को गिरफ्तार किया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंगाल में लगातार हो रही साम्प्रदायिक हिंसा की घटनाओं पर रोष जतायाहै. अभी कुछ दिनों पहले ही बीरभूम जिले के मल्लारपुर में भी साम्प्रदायिक झड़पों की खबरें आई थीं.

ममता बनर्जी ने पुलिस को निर्देश दिए हैं कि वह हालात से कड़ाई से निपटें. ममता का मानना है कि भारतीय जनता पार्टी जानबूझकर राजनीतिक द्वेष के चलते कारण पूरे राज्य में दंगे भड़का रही है. साथ ही उन्होंने स्थानीय प्रशासन को भी कहा है कि वह सतर्क रहे और तनाव कम करने के लिए हर संभव कदम उठाए.

बारावफ़ात को हुई थी पहली झड़प

बीते सप्ताह 12 दिसम्बर को धूलागढ़ में मुहम्मद पैगम्बर के जन्मदिन मिलाद-उन-नबी के मौके पर जुलूस निकाल रहे मुस्लिमों का कहना है कि कुछ हिंदुओं ने उनके जुलूस निकालने पर आपत्ति जताई थी. अगले दिन मुसलमानों की एक भीड़ ने कथित तौर पर हिन्दुओं के घरो और दुकानों में आग लगा दी. इस आगजनी में करीब 25 घर जल गए. वहां रहने वाले ज्यादातर ग्रामीण डर के मारे गांव छोड़कर बाग गए हैं.

धूलागढ़ निवासी श्यामनाथ ने बताया जब कुछ लोगों ने बीच-बचाव करने की कोशिश की तो हमलावरों के एक झुंड ने हथियार बाहर निकाल लिए. उन्होंने बताया जिस दिन यह घटना घटी पुलिस को उस इलाके में जाने की इजाजत नहीं थी.

दंगों में अपना मकान गवां चुके शांति लाल महन्तो ने बताया, 'जिस दिन बारावफात का जुलूस निकला उसके अगले दिन मेरा घर जला दिया गया. उसके बाद हालांकि यहां शांति है लेकिन डर है कि कहीं फिर से कोई झड़प न हो जाए. इसलिए हमने पुलिसकर्मियों से पर्याप्त सुरक्षा देने की मांग की है.'

शांति बहाल

पुलिस ने बताया दोनों सम्प्रदायों के लोगों के खिलाफ दंगे भड़काने और साम्प्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने के आरोप में मामले दर्ज किए गए हैं. धूलागढ़ पुलिस थाने के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, स्थिति नियंत्रण में है और शांति बनाए रखने के लिए घटना के अगले दिन से ही इलाके में त्वरित कार्य बल सहित पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. इलाके में उसके बाद कोई ताजा घटना नहीं घटी है.

हावड़ा के संकरैल से तृणमूल कांग्रेस के विधायक शीतल कुमार सरदार ने बताया अब हालात सामान्य हैं क्योंकि दोनों समुदाय के लोगों ने आपसी विचार-विमर्श करके मसले को हल कर लिया है. उन्होंने माना कि गांव में तनाव हुआ जरूर था लेकिन अब वहां शांति बहाल हो चुकी है.

First published: 22 December 2016, 8:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी