Home » इंडिया » West Bengal Panchayat Election: voting in filmy style, Clashes between BJP and TMC
 

फिल्मी स्टाइल में चल रहा पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव, लुटी पेटियां, चले चाकू-बम और मारे जा रहे लोग

आदित्य साहू | Updated on: 14 May 2018, 14:40 IST

बचपन में फिल्मों में देखा था कि चुनावों में किस तरह रसूखवालों के आदमी आते थे और बूथ को घेरकर खड़े हो जाते है. उनके पास हथियार होते थे. बंदूके लहराते और मूछों में ताव देते वो गुंडे बूथ के चारों ओर खड़े होते थे. बूथ के पास ही उनकी खुली जीप होती थी, जिसमें कई और लोग लाठी-डंडों के साथ खड़े होते थे. बूथ के भीतर उनका एक आदमी जल्दी-जल्दी वोटिंग पर्ची मेंं ठप्पा मार रहा होता था.

जब ऐसा नहीं हो पाता था तो पूरा बूथ ही लूट लिया जाता था, या फिर मतपेटी में आग लगा दी जाती थी. इस बीच कोई गांव का मतदाता बोलने की हिमाकत करता था तो उसे जमींदार के गुंडे लाठियों-डंडों और बंदूक के बट से पीटते थे. कोई ज्यादा बोलने की कोशिश करता था तो उसे गोली मार दी जाती थी.

कुछ ऐसी ही पश्चिम बंगाल में हो रहे पंचायत चुनाव में देखने को मिल रहा है. सुबह से वोटिंग की खबरें कम और मार-पीट, मर्डर, बूथ कैप्चरिंग, गाड़ी में आग, घर जला दिया, मीडिया कर्मी को मारा गया, मीडिया की गाड़ी जला दी, पुलिस को पीट दिया गया बस यही सब खबरें आ रही हैं.

कहीं बीजेपी कार्यकर्ता को कोई टीएमसी का मंत्री थप्पड़ मार रहा है तो कहीं टीएमसी के कार्यकर्ता बूथ लूट ले रहे हैं. कहीं बीजेपी नेता टीएमसी नेता को दौड़ा-दौड़ाकर मार रहे हैं तो कहीं सीपीआई के कार्यकर्ता का घर जला दिया जा रहा है. गाड़ियां जला दी जा रही हैं. बूथ के भीतर पीठासीन अधिकारी को मारा जा रहा है. बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ताओं में जूतम-पैजार की खबर सामने आई.

दीनापुर, मुर्शिदाबाद, आसनसोल, दुर्गापुर हर जगह बस मार-पीट की खबरे हैं. इन हमलों में कम से कम 6 लोगों के मारे जाने की खबर है. पंचायत चुनाव की कवरेज के दौरान 5 पत्रकार जख्‍मी हुए हैं. आरोप है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने ये हमले किए हैं.

वीती रात दक्षिण 24 परगना ज़िले में एक घर को आग के हवाले कर दिया. आग में जलने से 2 लोगों की मौत हो गई. सीपीएम ने कहा है कि ये लोग उनके समर्थक थे. इसका आरोप भी टीएमसी कार्यकर्ताओं पर है. 

मुशीराबाद में टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में बैलेट पेपर को तालाब में फेंक दिया गया. इसके बाद वोटिंग रोक दी गई.

First published: 14 May 2018, 14:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी