Home » इंडिया » West Bengal School asks boys and girls to come on alternate day
 

छेड़खानी रोकने के लिए सरकारी स्कूल का अजीबोगरीब फरमान, 3-3 दिन स्कूल आएं लड़के और लड़कियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2019, 10:11 IST
(File Photo)

स्कूलों में लड़कियों को छेड़खानी से बचाने के लिए पश्चिम बंगाल में एक स्कूल ने सबसे नायाब तरीका खोज निकाला. जिसके तहत अब छात्रों को सिर्फ तीन दिन ही स्कूल आना पड़ेगा. दरअसल, स्कूल ने फरमान जारी किया है. हफ्ते में तीन दिन लड़के और तीन दिन लड़कियां स्कूल आएंगीं.

स्कूल के इस निर्देश के तहत छात्र-छात्राएं अलग-अलग दिनों में स्कूल आएंगे. दरअसल, पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के हबीबपुर क्षेत्र के गिरिजा सुंदरी विद्या मंदिर के फैसले पर प्रशासन ने कड़ा विरोध जताया है. उन्होंने इस कदम को ‘अजीब’ बताते हुए इसे वापस लेने की मांग की.

हालांकि इस स्कूल के प्रिंसीपल रविंद्रनाथ पांडे ने दावा किया है कि कई घटनाएं सामने आने के बाद स्कूल इस कदम को उठाने के लिए मजबूर था. पांडे ने कहा कि, ‘‘यह फैसला किया गया कि लड़कियां सोमवार, मंगलवार और शुक्रवार को और लड़के मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को कक्षाओं में आएंगे.’’

प्रिंसीपल की सफाई के बाद पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि, ‘‘इस तरह के फैसलों का कभी समर्थन नहीं किया जा सकता. हमने अधिकारियों को इस मामले की जांच करने को कहा है और इस आदेश को तत्काल वापस लिया जाना चाहिए.’’

विजय माल्या प्रत्यर्पण के खिलाफ कर सकेगा अपील, रॉयल कोर्ट ने दी इजाजत

First published: 3 July 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी