Home » इंडिया » What is going on in Pakistan after India's surgical strike?
 

भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान में क्या चल रहा है ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2019, 16:38 IST

पीओके स्थित आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में बैठकों का दौर जारी है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को भारतीय वायु सेना (IAF) की कार्रवाई के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (NSC) की एक विशेष बैठक बुलाई. समिति ने बैठक के बाद पाकिस्तान ने बालाकोट के पास एक कथित आतंकवादी शिविर को निशाना बनाने के साथ-साथ भारी हताहतों के दावे के भारतीय दावे को खारिज कर दिया.

पाकिस्तान की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "एक बार फिर भारत सरकार ने काल्पनिक दावे का सहारा लिया है. पाकिस्तान ने भारत पर अशांति फैलाने का आरोप लगया. पाकिस्तान का कहना है कि यह क्षेत्र दुनिया के लिए जमीन पर तथ्यों को देखने के लिए खुला है. इसके लिए घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया को प्रभाव स्थल पर ले जाया जा रहा है. इमरान खान ने कहा कि भारत के सीमा उल्लंघन का पाकिस्तान जवाब देगा.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने बयान के अनुसार निर्देश दिया गया है कि सशस्त्र बलों और पाकिस्तान के लोगों को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है. पाकिस्तान में NCA प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाली शीर्ष नागरिक-नेतृत्व वाली कमान है जो नीति निर्माण, अभ्यास, तैनाती, अनुसंधान और विकास, और परिचालन और देश के परमाणु शस्त्रागार के नियंत्रण की निगरानी करता है.

डॉन की रिपोर्ट के अनुसार NSC की बैठक में चीफ ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के जनरल जुबैर महमूद हयात, चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ (COAS) जनरल क़मर जावेद बाजवा, नौसेना स्टाफ के चीफ़ एडमिरल ज़फ़र महमूद अब्बासी, एयर स्टाफ के चीफ़ एयर चीफ़ मार्शल मुजाहिद अनवर शामिल हुए. खान और अन्य सैन्य और नागरिक अधिकारी, जिनमें कैबिनेट सदस्य शामिल हैं. इससे पहले मंगलवार सुबह, पकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पूर्व सचिवों और वरिष्ठ राजदूतों के साथ सुरक्षा स्थिति पर चर्चा करने के लिए इस्लामाबाद में विदेश कार्यालय में एक आपातकालीन बैठक बुलाई थी.

बैठक के दौरान, कुरैशी ने कहा था कि पाकिस्तान शांति की इच्छा रखता है लेकिन भारत क्षेत्रीय स्थिति को बिगाड़ रहा है. प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद कुरैशी के मीडिया से मुखातिब होने की उम्मीद है. एलओसी उल्लंघन के बाद एक बयान में कुरैशी ने भारत को पाकिस्तान को चुनौती नहीं देने की चेतावनी दी और कहा था कि दिल्ली में बेहतर समझदारी होनी चाहिए. विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को उचित प्रतिक्रिया देने का अधिकार है और आत्मरक्षा का अधिकार है.

जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई की ये है पूरी कहानी

First published: 26 February 2019, 16:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी