Home » इंडिया » When Jawaharlal Nehru described Atal Bihari Vajpayee as the potential Prime minister of india
 

जब नेहरु ने अटल बिहारी वाजपेयी के पीएम बनने की भविष्यवाणी की थी, ये था पूरा मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2018, 12:16 IST
(file photo )

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का हालत नाजुक बनीं हुई है. वो दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती हैं. अटल बिहारी वाजपेयी देश के सबसे चहेते नेता हैं. सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ही उनकी तारीफ करते रहे हैं. पूरे देश में वाजपेयी के स्वास्थ्य के लिए कामना की जा रही हैं. अटल बिहारी वाजपेयी के भाषण लोगों को हमेशा प्रभावित किया. देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू भी वाजपेयी जी के भाषणों से खासे प्रभावित रहे थे.

अटल बिहारी वाजपेयी जब 1957 में बलरामपुर से पहली बार लोकसभा सदस्‍य बनकर संसद पहुंचे तो सदन में उनके भाषणों ने तत्‍कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को बेहद प्रभावित किया. विदेशनीति में वाजपेयी की जबरदस्त पकड़ ने पंडित नेहरू को उनका कायल बना दिया. हालांकि इस दौरान वाजपेयी सदन में सबसे पीछे बैठते थे, लेकिन पंडित नेहरू हमेशा वाजपेयी के भाषणों को खासा तवज्‍जो देते थे. नेहरू जी वाजपेयी जी से इतने प्रभावित थे, उन्होंने एक बार किसी से बात करते हुए वाजपेयी जी को देश का भावी प्रधानमंत्री बताया था.

वरिष्‍ठ पत्रकार किंगशुक नाग ने अपनी किताब 'अटल बिहारी वाजपेयी- ए मैन फॉर ऑल सीजन' में नेहरू और वाजपेयी से जुड़े कुछ किस्सों का जिक्र किया है. इसमें उन्‍होंने लिखा है कि दरअसल एक बार जब ब्रिटिश प्रधानमंत्री भारत की यात्रा पर आए तो पंडित नेहरू ने वाजपेयी से उनका विशिष्‍ट अंदाज में परिचय कराते हुए कहा, "इनसे मिलिए. ये विपक्ष के उभरते हुए युवा नेता हैं. मेरी हमेशा आलोचना करते हैं लेकिन इनमें मैं भविष्य की बहुत संभावनाएं देखता हूं." ऐसे ही एक बार पंडित नेहरू ने किसी विदेशी मेहमान से वाजपेयी जी का परिचय कराते हुए उनको देश का भावी प्रधानमंत्री बताया था.

file photo

इस किताब में 1977 की एक घटना का जिक्र किया गया है. जिसमें बताया गया है कि वाजपेयी नेहरू जी का कितना सम्मान करते थे. किताब के मुताबिक 1977 में जब वाजपेयी विदेश मंत्री का कार्यभार संभालने के लिए साउथ ब्‍लॉक के अपने दफ्तर पहुंचे तो उन्‍होंने देखा कि वहां पर लगी पंडित नेहरू की तस्‍वीर गायब है. वाजपेयी जी ने तत्काल इसको लेकर अपने सेक्रेटरी से पता किया. इसके बाद उस तस्वीर को फिर से लगा दिया गया. इस घटना का जिक्र खुद वाजपेयी जी ने संसद में अपने एक भाषण के दौरान भी किया था.

ये भी पढ़ें-  अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक, PM मोदी समेत कई नेता मिलने पहुंचे AIIMS

First published: 16 August 2018, 12:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी