Home » इंडिया » Catch Hindi: Which is The World Most Literate Nation?
 

दुनिया का सबसे साक्षर व्यवहार वाला देश कौन है?

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 April 2016, 23:07 IST

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार 15 वर्ष से अधिक उम्र का हर वो व्यक्ति साक्षर है जो लिख और पढ़ सकता है. आम तौर पर किसी देश की साक्षरता इसी आधार पर मापी जाती है. लेकिन अमेरीकी शिक्षाविदों के दल ने पहली बार साक्षर व्यवहार या समग्र साक्षरता के आधार पर विभिन्न देशों की रैंकिंग जारी की है.

इस रैंकिंग के अनुसार फ़िनलैंड दुनिया का सबसे साक्षर देश है. वहीं नार्वे, आइसलैंड, डेनमार्क, स्वीडेन क्रमशः दूसरे, तीसरे चौथे और पांचवे स्थान पर हैं. जिन 61 देशों की रैंकिंग जारी हुई है उनमें भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका या बांग्लादेश का नाम नहीं है.

इन 7 कारणों से है फ़िनलैंड का स्कूल सिस्टम सबसे अलग

एशियाई देशों में सबसे ऊपर दक्षिण कोरिया(22) और जापान(32) हैं. वहीं अमेरिका (7), जर्मनी(8), फ्रांस(12), ब्रिटेन(17) और चीन(39) स्थान पर हैं.

अमेरिका के सेंट्रल कनेक्टिकट स्टेट यूनिवर्सिटी के निदेशक जॉन मिलर के नेतृत्व में दुनिया के 200 से ज्यादा देशों के आंकड़ों का विश्लेषण किया. इनमें से केवल 61 देशों के आंकड़े विश्वसनीय पाए गए. इन देशों के आंकडो़ं का विश्लेषण करके शिक्षाविदों ने इनकी रैंकिंग तैयार की.

विश्वविद्यालय के अनुसार इस अध्ययन में "इन देशों के नागरिकों को साक्षरता के बजाय उनके साक्षर व्यवहार और शिक्षा के संसाधनों के आधार पर विचार किया गया है."

भारत में स्कूल बढ़े हैं लेकिन पढ़ाई का स्तर गिरा है

पिछले महीने प्रकाशित हुई ये रैंकिंग पांच कारकों के आधार पर तैयार की गयी है. इन्हीं पांचों को किसी राष्ट्र के शैक्षणिक स्वास्थ्य का प्रमुख संकेतक माना गया है. ये कारक हैं- लाइब्रेरी, अख़बार, शिक्षा व्यवस्था में इनपुट, शिक्षा व्यवस्था का आउटपुट और कम्प्यूटर.

रैंकिंग तैयार करने वाली टीम के अनुसार इन बहुमुखी कारकों से किसी देश की सामाजिक, आर्थिक और विधायी शक्ति का पता चलता है.

सभी पांचों कारकों के आधार पर स्वतंत्र रैंकिंग भी जारी की गयी है. मसलन समग्र तौर पर दुनिया में नंबर एक फ़िनलैंड अख़बार में पहले, लाइब्रेरी में 10वें, शिक्षा व्यवस्था के इनपुट में 18वें, शिक्षा व्यवस्था के आउटपुट में दूसरे और कम्प्यूटर में आठवें स्थान पर है.

First published: 8 April 2016, 23:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी