Home » इंडिया » Why China is angry with India over LAC, Army said from Jinping be prepared for war
 

LAC पर भारत ने ऐसा क्या किया कि चिढ़ा हुआ है चीन, सैनिकों से कहा युद्ध की तैयारी करो

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 May 2020, 12:19 IST

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने मंगलवार को अपनी सेना को युद्ध की तैयारियों को पूरा करने का आदेश दिया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चीन ने बड़ी संख्या सैनिकों को एलएसी पर तैनात किया है. जानकारों का कहना है कि सीमा पर चीन के चिढ़ने का मुख्य कारण भारत द्वारा तेजी से किया जा रहा इंफ्रास्ट्रक्चर विकास है. लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में एलएसी के साथ कई क्षेत्रों में हाल ही में भारतीय और चीनी दोनों सेनाओं द्वारा बड़े सैन्य निर्माण हुए हैं. चीन लंबे समय से एलएसी पर अपने इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाता रहा है. जबकि भारत ने बॉर्डर इन्फ्रास्ट्रक्चर जैसे सड़क व एयरबेस परियोजनाओं का विकास किया है.

भारत ने अब सीमा पर अपने सैनिकों के युद्धसामग्री ले जाने के लिए पिछले कुछ सालों से इन्फ्रास्ट्रक्चर बढ़ाया है. चीन के गुस्से का यही प्रमुख कारण माना जा रहा है. यही नहीं विवादित दक्षिण चीन सागर में ताइवान जलडमरूमध्य में अमेरिकी नौसेना के साथ चीन का सैन्य घर्षण भी बढ़ रहा है. जबकि दोनों के देशों के बीच कोरोना वायरस महामारी की उत्पत्ति पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. रविवार को चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने अमेरिकी राजनेताओं की जमकर आलोचना की. उन्होंने कहा कि अमेरिका, चीन के साथ संबंधों को नए शीत युद्ध के कगार पर धकेल रहा है.

22 मई को चीन, अमेरिका के बाद दूसरा सबसे बड़ा सैन्य खर्च अपने रक्षा बजट के जरिए घोषित किया, जिसे 6.6 प्रतिशत बढ़ाकर 179 बिलियन अमरीकी डॉलर कर दिया है. यह भारत के लगभग तीन गुना बड़ा है. जब से शी जिनपिंग सत्ता में आए हैं वह विस्तारवादी नीति को बढ़ावा देते आए हैं. उन्होंने रक्षा बलों को भी पुर्नजीवित किया, तीन लाख सैनिकों द्वारा पीएलए की ताकत में कटौती की और अपनी नौसेना और अपनी वायु सेना शक्ति को बढ़ाया. पिछले कुछ सालों में डोकलाम सहित कई जगह भारत- चीन सैनिकों में तनाव की स्थिति पैदा हुई है.   


भारत से क्यों चिढ़ा है चीन

भारत अब लगातार चीन को को चुनौती दे रहा है. पिछले साल भारत ने 255 किमी लंबे दारबुक-श्योक-दौलत बेग ओल्डी (DBO) यानी DSDBO रोड के निर्माण को पूरा किया. DSDBO 37 पुल है, जो सैनिकों और लॉजिस्टिक्स को आसान बनाते हैं. यह सड़क काराकोरम दर्रे तक जाती है. रक्षा जानकार मानते हैं कि भारत की लगातार बढ़ती ताकत से चीन के अंदर कहीं न कहीं असुरक्षा का भाव उत्पन्न हुआ है. 

चीन के साथ LAC पर तनाव के बीच आर्मी चीफ मुकुंद नरवणे शीर्ष कमांडरों से करेंगे मीटिंग : रिपोर्ट

First published: 27 May 2020, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी