Home » इंडिया » Wing commander Shailja Dhami becomes first woman flight commandant in Indian Air force
 

शैलजा धामी बनीं इंडियन एयर फोर्स की फ्लाइंग यूनिट की पहली महिला फ्लाइट कमांडेंट

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 September 2019, 16:11 IST

भारत की बेटियां हर क्षेत्र में देश का नाम ऊंचा कर रही है. अब विंग कमांडर शैलजा धामी भारतीय वायु सेना की फ्लाइंग यूनिट में फ्लाइट कमांडर बन गई हैं. बता दें कि विंग कमांडर शैलजा धामी इंडियन एयरफोर्स की पहली महिला फ्लाइट कमांडर हैं. वह पंजाब में वीर स्वतंत्रता सैनानी करतार सिंह सराभा के गांव में पली-बढ़ी हैं. वह बचपन से ही देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा रखती थीं. बता दें कि उनके गांव के लोगों ने देश की आजादी में उल्लेखनीय योगदान दिया है. इस गांव का नाम देश की आजादी के लिए शहीद हुए करतार सिंह सराभा के ही नाम पर रखा गया है.

शैलजा को गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर चेतक हेलिकॉप्टर यूनिट की फ्लाइट कमांडर का दायित्व सौंपा गया है. यह पिछले 15 aसाल से भारतीय वायु सेना में उनकी सेवाओं की अगली सीढ़ी है. इससे पहले वह पहली महिला फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर रह चुकी हैं. साथ ही फ्लाइंग ब्रांच की परमानेंट कमीशन प्राप्त करने वाली वह देश की पहली महिला भी है.

बता दें कि शैलजा के माता पिता सरकारी नौकरी में थे. पिता हरकेश धामी बिजली बोर्ड के एसडीओ रहे और मां देव कुमारी जल आपूर्ति विभाग में थीं. शैलजा का जन्म लुधियाना में हुआ और शुरुआती पढ़ाई के बाद उन्होंने घुमार मंडी के खालसा कॉलेज से बीएससी की पढ़ाई की. अपनी 12वीं की पढ़ाई के दौरान एनसीसी के एयरविंग में जाना शैलजा के जीवन में एक निर्णायक मोड़ साबित हुआ. क्योंकि इसी दौरान हिसार में आयोजित ओपन ग्लाइडिंग टूर्नामेंट में स्पॉट लैंडिंग में दूसरा स्थान हासिल किया. उसके बाद वह हमेशा के लिए आसमान में उड़ने की तैयारी कर ली.

First published: 8 September 2019, 16:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी