Home » इंडिया » Without permission Reliance Jio use PM Modi picture, Fine imposed 500 INR
 

रिलायंस ने बिना इजाज़त जियो के विज्ञापन में छापी मोदी की फोटो, 500 रुपये जुर्माना मुमकिन

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST
(एजेंसी)

देश के प्रमुख औद्योगिक समूह रिलायंस ने अपनी नई टेलीकॉम सर्विस जियो के विज्ञापन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो छापने के लिए सरकार से इजाजत नहीं ली थी. इस मामले में बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार एक्शन ले सकती है और रिलायंस जियो पर 500 रुपये का जुर्माना लग सकता है.

यह जुर्माना बिना सरकार की इजाजत के ऐड में पीएम मोदी की फोटो इस्तेमाल करने को लेकर लगेगा. इस संदर्भ में बीते गुरुवार को सूचना और प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने संसद में दिए अपने लिखित जवाब में बताया कि रिलायंस के द्वारा पीएम मोदी की फोटो के इस्तेमाल की कोई भी आज्ञा प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से नहीं ली गई थी.

हालांकि इस विवादित मसले पर रिलायंस की टेलीकॉम सर्विस जियो की ओर से अब तक कोई टिप्पणी नहीं आई है. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, सरकार से रिलायंस जियो के बारे में यह सवाल समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद नीरज शेखर ने पूछा था.

सूचना और प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने इसके जवाब में माना कि सरकार को पता था कि रिलायंस ने पीएम मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किया था. इस पर विपक्ष ने सवाल खड़ा करते हुए हंगामा किया और पूछा कि किसी निजी कंपनी के विज्ञापन में पीएम की तस्वीर कैसे इस्तेमाल हो गई?

रिलायंस जियो के अलावा पेटीएम जैसी ई-वॉलेट कंपनी के विज्ञापन में भी पीएम मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल हुआ था. उसको लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पीएम मोदी पर निशाना भी साधा था.

विपक्ष ने वित्रापन में पीएम के फोटो पर सवाल पूछा था. विपक्ष ने पूछा था कि क्या पीएमओ ने दोनों कंपनी के खिलाफ बिना इजाजत के फोटो इस्तेमाल करने पर कोई कार्रवाई की?

इस पर केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा, "प्रतीक और नाम (अनुचित प्रयोग निवारण) अधिनियम को खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा देखा जाता है." उन्होंने बताया, "विज्ञापन के खिलाफ उन्हें कोई शिकायत नहीं मिली, लेकिन फिर भी हम कानून तोड़ने पर कड़ी कार्रवाई का भरोसा देते हैं"

गौरतलब है कि कानून के सेक्शन तीन के हिसाब से किसी भी ‘विशिष्ट’ व्यक्ति के नाम या तस्वीर और चिन्ह को किसी लेन-देन, व्यापार के लिए बिना केंद्र सरकार की इजाजत के इस्तेमाल नहीं किया जा सकता.

‘विशिष्ट’ की लिस्ट में लगभग 3 दर्जन नाम और चिन्ह शामिल हैं, जिनका इस्तेमाल बिना केंद्र सरकार की इजाजत के नहीं किया जा सकता. उसमें भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यों के गवर्नर, भारत या राज्य सरकार, महात्मा गांधी, इंदिरा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, संयुक्त राष्ट्र संघ, अशोक चक्र और धर्म चक्र शामिल हैं.

First published: 3 December 2016, 1:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी