Home » इंडिया » Woman gives birth to child on shramik special train from Surat to Pratapgarh
 

गुजरात से उत्तर प्रदेश जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन में महिला ने दिया बच्चे को जन्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 May 2020, 9:12 IST

Baby birth on Shramik special train: लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान देशभर में प्रवासी मजदूरों (Migrant Labourers) का पलायन (Migrantion) जारी है. सरकार (Government) ने प्रवासी मजदूरों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Train) का संचालन किया है. ये ट्रेनें श्रमिकों को लेकर उनके गृह राज्य (Native State) जा रहा है. इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में बच्चों को जन्म देने वाली तमाम घटनाएं सामने आ रही है. ऐसा ही एक मामले सूरत से उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सामने आया. जहां शुक्रवार को 22 वर्षीय महिला ने ट्रेन में एक बच्ची को जन्म दिया. ये महिला अपने पति के साथ अपने घर लौट रही थी.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, नसीम खान सूरत में किसी पेंटिंग मिल में काम करते हैं. उनके साथ उनका छोटा भाई और पत्नी भी रहते हैं. बुधवार को वह अपने भाई अयूब खान और पत्नी सबीर बानो के साथ उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में अपने घर लौट रहे थे. वह सूरत से श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार होकर वहां से रवाना हुए. बताया जा रहा है कि नसीम सूरत में पिछले कई सालों से रह रहे हैं लेकिन लॉकडाउन के दौरान काम बंद होने की वजह से पैसों की तंगी होने लगी. उसके बाद उन्होंने अपने घर लौटना ठीक समझा. नसीम की पत्नी के प्रेग्नेंट होने की वजह से उन्होंने घर जाना ही ठीक समझा.


पाकिस्तान विमान क्रैश: दोनों इंजन में लग गई थी आग, पायलट ने आखिरी मौके पर ऐसे मांगी थी मदद, लेकिन..

ये ट्रेन जब मध्य प्रदेश पहुंची तो नसीम खान की पत्नी सबीर बानो को प्रसव पीड़ा होने लगी. उसके बाद इसके बारे में ट्रेन के गार्ड को सूचना दी गई. जैसे ही ट्रेन बीना रेलवे स्टेशन पहुंची. सामुदायिक स्वास्थ केंद्र के डॉक्टरों की टीम स्टेशन पर पहुंच गई. जहां सबीना बानो ने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया. जानकारी के मुताबिक, जच्चा-बच्चा दोनों की तबियत ठीक है. जब बच्ची और मां की पूरी तरह से जांच कर ली गई. उसके बाद ट्रेन को रवाना किया गया.

COVID-19: दुनियाभर में मरने वालों का आंकड़ा तीन लाख 39 हजार के पार, भारत में 1.24 लाख से ज्यादा संक्रमित

नसीम खान ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि सूरत में कोरोना के मामले बढ़ने की वजह से वह अपनी पत्नी की डिलीवरी वहां नहीं कराना चाहते थे. उन्होंने बताया कि डिलीवरी होने में अभी कुछ दिन बाकी थे, इसलिए वो स्पेशल ट्रेन से अपने घर वापस जा रहे थे. इसके बारे में उन्होंने अपने परिवार को भी सूचना दे दी थी और उन्होंने चित्रकूट के एक अस्पताल में डिलीवरी के लिए रजिस्ट्रेशन भी करा रखा था.

Coronavirus: कन्फर्म हवाई और ट्रेन टिकट वालों को नहीं पड़ेगी पास की जरूरत - नोएडा पुलिस

First published: 23 May 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी