Home » इंडिया » World Cup 2019: Know about Mahendra Singh Dhoni's Balidaan Badge in gloves
 

धोनी के ग्लव्स में बने 'बलिदान बैज' में ऐसा क्या है जिसे लेकर क्रिकेट गलियारों में मच गया तूफान?

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2019, 13:10 IST

World Cup 2019 के अपने पहले मैच में टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को 6 विकेट से हरा दिया. इस मैच में महेंद्र सिंह धोनी ने विकेटकीपिंग करते वक्त जो दस्ताने पहन रखे थे, उसमें एक खास किस्म का चिन्ह बना हुआ था. इस चिन्ह के बाद वह चर्चा में आ गए. पाकिस्तान ने इस पर सवाल उठा दिए तो ICC ने इस चिन्ह को हटाने को लेकर BCCI को चिट्ठी लिख दी.

इसके बाद BCCI ने धोनी का समर्थन करते हुए कहा कि धोनी को यह चिन्ह हटाने की जरूरत नहीं है. BCCI ने कहा कि हम ICC से इसके लिए चिट्ठी लिखकर औपचारिक रूप से इजाजत मांगेंगे. BCCI ने कहा कि हम इस मुद्दे पर धोनी के साथ खड़े हैं. धोनी के ग्लव्स पर बना यह चिन्ह न ही कार्मिशयल है और न ही धार्मिक है. 

'बलिदान बैज' है चिन्ह का नाम

महेंद्र सिंह धोनी के ग्लव्स में बना यह चिन्ह 'बलिदान बैज' है. बलिदान बैच स्पेशल पैरा कमांडो ट्रेनिंग पूरी करने वालों को मिलता है. ये बहुत ही कठिन ट्रेनिंग होती है. इस ट्रेनिंग में स्पेशल पैरा कमांडो को हवा, जमीन और पानी की मुश्किल चुनौतियों से पार पाना होता है. दुनिया की सबसे मुश्किल ट्रेनिंग में से एक है बलिदान बैच पाने की ट्रेनिंग.

ये कमांडो पैराशूट रेजिमेंट के होतै हैं ओर दुनिया की सबसे एलीट फोर्सेज़ में से एक माने जाते हैं. इन कमांडो को कुछ खास टास्क पूरा करने के लिए स्पेशल ट्रेनिंग मिलती है. ये खास टास्क हैं जैसे- कॉम्बेट फ्री फॉल, रॉक एंड आइस क्राफ्ट, अंडर वॉटर डाइविंग, पैरामोटर पायलट. बहुत ही मुश्किल भर्ती प्रकिया में सफल होने वाले कमांडो को बलिदान बैच के हक मिलता है. मरून बैरट और बलिदान बैच इन कमांडो की दुनियाभर में अलग पहचान बनाता है.

 

धोनी ने क्यों लगाया 'बलिदान बैज'

धोनी ने एक तरह से पैरा स्पेशल फोर्सेज को सम्मान देने के लिए इस बैज का इस्तेमाल किया. साल 2011 में धोनी को पैरा स्पेशल फोर्सेज़ में लेफ्टिनेंट कर्नल का मानद रैंक मिला है. दरअसल, साल 2011 में उनके भारतीय क्रिकेट में योगदान को देखते हुए सेना ने उन्हें पैराशूट रेजिमेंट में ये रैंक दिया.

साल 2015 में धोनी ने पैरा ट्रेनिंग स्कूल, आगरा में अपनी बेसिक ट्रेनिंग पूरी की है. इस दो हफ्ते की ट्रेनिंग में धोनी ने 5 पैराशूट जंप पूरे किए हैं. इसके बाद ही उन्हें पैरा ट्रूपर विंग्स मिले. इसके अलावा 2018 में धोनी ने लेफ्टिनेंट कर्नल की वर्दी में राष्ट्रपति भवन में पद्म भूषण अवॉर्ड प्राप्त किया था. 

धोनी कर रहे थे टीम इंडिया को जिताने की कोशिश, चोरों ने उनके घर पर बोल दिया हमला

World Cup 2019 में इस मिस्ट्री गर्ल का है खूूब क्रेज, दिग्गज खिलाड़ियों के साथ तस्वीरें वायरल

First published: 7 June 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी