Home » इंडिया » Writ petition filled against 10 percent reservation bill in Supreme Court
 

दोनों सदनों में पास होने के बाद भी मुश्किल में फंसा सवर्ण आरक्षण बिल, सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2019, 16:16 IST

10 % सवर्ण आरक्षण बिल लोकसभा और राज्यसभा दोनों सदनों में पास होने के बाद भी पेंच में फंस गया है. इस बिल को खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर कर दी गई है. सुप्रीम कोर्ट में एक पिटीशन फाइल की गई है जिसमें आर्थिक आधार पर आरक्षण की व्यवस्था को लेकर ऑब्जेक्शन जताया गया है.

यूथ फॉर इक्वालिटी नामक संगठन ने ये पिटीशन फाइल की है जिसमें संविधान के 103वें एमेंडमेंड बिल 2019 को लेकर विरोध जताया गया है. इस अमेंडमेंड के मुताबिक देश के आर्थिक आधार पर पिछड़े लोगों को नौकरी और शिक्षा में 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया गया है.

बता दें कि सवर्ण समुदाय के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को रोजगार और शिक्षा में आरक्षण देने संबंधी संविधान के 124वां संशोधन विधेयक को संसद की मंजूरी मिल गई है. दोनों सदनों में यह बिल पास हो गया है.

First published: 10 January 2019, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी