Home » इंडिया » writer Javed Akhtar slams to NIA with tweet on acquittal of Mecca Masjid accused after BJP counterattack
 

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केसः जावेद अख्तर ने NIA पर कसा तंज, BJP का पलटवार

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2018, 19:19 IST

हैदराबाद के मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में सोमवार को एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने सबूतों के अभाव में असीमानंद सहित सभी पांचों आरोपियों को बरी कर दिया है. कोर्ट के फैसले के बाद इस मामले की जांच कर रही एनआईए पर सवाल खड़े हो रहे हैं. कोर्ट के फैसले को लेकर लेखक जावेद अख्तर ने ट्वीट कर एनआईए पर तंज कसा है. वहीं बीजेपी ने भी पटलवार करते हुए जावेद अख्तर के इस ट्वीट का तल्ख जवाब दिया है.

 

मक्का मस्जिद ब्लास्ट को लेकर कोर्ट के फैसले के बाद जावेद अख्तर ने ट्वीट करते हुए कहा एनआईए की टीम पर केरल लव जेहाद मामले को लेकर तंज कसा है. 

जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में पाई अपार सफलता के लिए मेरी तरफ से एनआईए की टीम को बहुत बहुत बधाई. अब आपके पास अंतरधार्मिक शादियों की जांच के लिए बहुत समय होगा. बता दें कि एनआईए टीम केरल लव जेहाद मामले की जांच कर रही है. इसी को लेकर जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में अंतरधार्मिक शादियों की जांच की बात कही है.  

वहीं जावेद अख्तर के ट्वीट को लेकर बीजेपी ने भी पलटवार किया है. बीजेपी के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने जावेद अख्तर के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, 'जावेद जी, काश आपके अंदर 'हिंदू टेरर' शब्द की उपज के लिए कांग्रेस की निंदा करने की भी ईमानदारी होती.

गौरतलब है कि साल 2007 में हैदराबाद की मक्का मस्जिद में हुए ब्लास्ट में 9 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं 58 लोग घायल हो गए थे. जबकि इस ब्लास्ट को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन में पुलिस की फायरिंग में भी कुछ लोगों की मौत हो गई थी. पहले इस मामले की जांच पुलिस ने शुरू की.

इसके बाद सीबीआई ने इस केस की जांच शुरू की. साल 2011 में एनआईए को इस केस को सौंप दिया गया था. अब एनआईए कोर्ट में आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत पेश नहीं कर सकी. कोर्ट ने इस मामले में सभी आरोपियों को बरी कर दिया है.

First published: 18 April 2018, 19:19 IST
 
अगली कहानी