Home » इंडिया » Yamuna express way dhaba used to sell aircraft oil in low prices, aviation turbine fuel for trucks and cars
 

ढाबे में खाने के साथ बेचा जाता था हवाई-जहाज का तेल, विमान ईंधन का ऐसे करते थे इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2018, 9:10 IST

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक अजीब मामला सामने आया है. यमुना एक्सप्रेस-वे के एक ढाबे पर कुछ लोग एविएशन टरबाइन फ्युएल (एटीएफ) यानी हवाई जहाज के लिए इस्तेमाल होने वाले तेल को अवैध रूप से बेचने का कारोबार कर रहे थे. इस हवाई ईंधन को मथुरा रिफाइनरी से गाजियाबाद स्थित एयरफोर्स हिण्डन बेस कैंप भेजे गए एविएशन टरबाइन फ्युएल (एटीएफ) के टैंकरों से अवैध तरीके से भेजा जाता था.

ये खरीद फरोख्त का काम यमुना एक्सप्रेस-वे के एक ढाबे में किया जाता था. 'दोस्ताना ढाबा' इस तरह से हवाई ईंधन बेचने का अड्डा बन गया था. पुलिस ने इस मामले में जानकारी मिलते ही एक्सप्रेस-वे के इस दोस्तान ढाबे से आठ लोगों को विमान ईंधन बेचते हुए गिरफ्तार किया. वहीं तीन अन्य आधी रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग गए.

इस मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने बताया, ''यमुना एक्सप्रेस वे पर दोस्ताना ढाबे पर बुधवार को मथुरा के तेलशोधक कारखाने से हिण्डन एयरफोर्स बेस कैंप के लिए भेजे गए विमान ईंधन के चार तेल टैंकर जब्त किए गए और चालकों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया. यह ढाबा नौहझील थाना क्षेत्र के रामनगला व बरौठ गांवों के बीच में स्थित है.''

कांग्रेस नेता खड़गे का बयान- BJP, RSS के घर से एक कुत्ते ने भी नहीं दिया आजादी के लिए बलिदान

 

उन्होंने बताया, ‘मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ लोग रिफाइनरी से विभिन्न स्थानों के लिए भेजा जाने वाला अत्यधिक महंगी दर वाला पेट्रो ईंधन (एटीएफ) दोस्ताना ढाबे पर लाकर स्थानीय लोगों तथा वहां से गुजरने वाली गाड़ियों के मालिकों को कम दामों में बेच देते हैं तथा मिलावट कर उसकी मात्रा पूरी दिखा देते हैं.’

पुलिस ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है उनकी पहचान अशोक, विजय, शिवम, हरिओम, बेनीराम, फूला सिंह, भगवान सिंह और सूर्यमणि के नाम से हुई है जो कि आस पास के क्षेत्रों के निवासी हैं.

First published: 5 October 2018, 9:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी