Home » इंडिया » yasin malik led jklf banned by central govt under anti terror law
 

अलगाववादियों पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, यासीन मालिक के JKLF को किया बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2019, 9:44 IST

केंद्र सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर में अलगाववादियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है. सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट को आतंकी विरोधी कानून के तहत बैन कर दिया गया है.  इस संगठन का प्रमुख यासीन मलिक है. मालूम हो कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद 28 फरवरी को यासीन मलिक को गिरफ्तार किया गया था.

जम्मू-कश्मीर लिबरेशेन फ्रंट (JKLF) पर आतंकी गतिविधियों पर समर्थन देने का आरोप लगता हुए इसे केंद्र की मोदी सरकार द्वारा बैन कर दिया गया है. केंद्रीय गृह सचिव राजीव गाबा ने JKLF पर बैन लगाने की अधिकारी जानकारी दी.


राजीव गाबा ने कहा कि जेकेएलएफ के खिलाफ 37 एफआईआर दर्ज किए गए हैं. इन एफआईआर में चार वायुसेना के अधिकारियों की हत्या और रुबैया सईद के अपहरण का मामला भी शामिल है. बता दें कि रुबैया सईद मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी है. 

राजीव गाबा ने इम मामले को लेकर कहा कि ये संगठन आतंक को बढ़ावा दे रही थी.  जेएलएफ पर आरोप लगाया गया है कि ये आतंक को बढ़ावा देने के लिए अवैध रूप से आतंकियों को पैसा मुहैया करवाने के जिम्मेवार हैं.

जेएलएफ को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली हुई है, इसलिए इसके खिलाफ अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गई. पिछले तीन महीने से  इसके खिलाफ कार्रवाई करने की प्रक्रिया चल रही थी. बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर के जमात-ए-इस्लामी संगठन पर बैन लगाया गया है.

First published: 22 March 2019, 20:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी