Home » इंडिया » Year 2017 was the name of the rich in India, now a new survey of the rich who came in front
 

साल 2017 भारत में अमीरों के नाम रहा, अब सामने आया नया सर्वे

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 February 2018, 14:35 IST

भारत में जहां आर्थिक समानता को लेकर लगातार बहस छिड़ी है वहीं न्यू वर्ल्ड वैल्थ की ताजा रिपोर्ट की माने तो साल 2017 में 7,000 हाई नेटवर्थ वाले लोगों ने देश छोड़ दिया.रिपोर्ट के अनुसार अमीरों के देश छोड़ने के मामले में भारत चीन के बाद दूसरे स्थान पर पहुंचा गया है. आंकड़ों के मुताबिक 2016 की तुलना में 16 फीसदी अधिक धनकुबेरों ने भारत की नागरिकता को त्यागकर दूसरे देशों की नागरिकता ले ली.

2017 में देश छोड़ने वालों का यह आंकड़ा 2016 के 6,000 और 2015 में 4,000 के मुकाबले ज्यादा होना चौकाने वाला है. इस मामले में चीन अभी पहले स्थान पर है. 2017 में चीन के 10,000 अमीर लोगों ने देश छोड़ा. भारत छोड़ने वाले ज्यादातर लोगों ने अमेरिका की नागरिकता लेना पसद किया. जबकि यूएई, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यू जीलैंड भी भारतीयों की पसंद रही.

 

हालही में ऑक्सफैम ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि भारत में साल 2017 में देश में अर्जित किये गए धन का 73% हिस्सा एक प्रतिशत अमीर लोगों के पास गया. ऑक्सफाम के अंतरराष्ट्रीय अधिकार समूह ऑक्सफाम द्वारा जारी किए गए सर्वेक्षण के मुताबिक 67 करोड़ भारतीयों ने अपनी संपत्ति में सिर्फ एक प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी.

यह स्थिति दुनियाभर में और भी अधिक गंभीर दिखाई देती है. जहां पिछले साल कुल मिलाकर धन का 82 प्रतिशत हिस्सा 1 प्रतिशत लोगों के पास गया. जबकि 3.7 अरब गरीब आबादी की संपत्ति में कोई वृद्धि नहीं देखी.

First published: 4 February 2018, 14:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी