Home » इंडिया » Yogi Adityanath Government Issues Notification for Uttar Pradesh Special Security Force
 

उत्तर प्रदेश: योगी सरकार ने जारी की SSF के गठन की अधिसूचना, बिना वारंट के घर की तलाशी लेने और गिरफ्तारी का अधिकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 September 2020, 22:16 IST

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार (Yogi Adityanath) ने उत्तर प्रदेश स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स (Uttar Pradesh Special Security Force) के गठन की मंजूदी दे दी है और सरकार की तरफ से इसके लिए रविवार को अधिसूचना भी जारी कर दी गई है. UPSSF का नेतृत्व एडीजी स्तर के अधिकारी के हाथों में होगा. इस स्पेशल फोर्स को कई शाक्तियां दी गई हैं, जिसमें बिना वारंट के गिरफ्तारी से लेकर घर की तलाशी तक शामिल है, यानि यह फोर्स किसी के घर की तलाशी ले सकती है और किसी व्यक्ति को गिरफ्तार भी कर सकती है, वो भी बिना वारंट के.

खबरों के अनुसार, यह फोर्स राज्य की महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों, दफ्तरों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाएगी. वहीं कोई प्राइवेट कंपनी अगर इस फोर्स की सेवा लेना चाहती है तो वो भुगतान करके फोर्स की सेवाएं ले सकती है. बता दें, फोर्स को जो पावर दी गई है, उसके अनुसार, अदालत भी फोर्स के जवानों और अधिकारियों के खिलाफ संज्ञान नहीं ले सकती है.


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 26 जून को स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स के गठन की मंजूरी दी थी और अब गृह विभाग द्वारा इसकी अधिसूचना जारी की गई है. खबरों की मानें तो शुरूआत में UPSSF की पांच बटालियन होंगी और बाद में इसे धीरे-धीरे बढ़ाया जाएगा. गृह विभाग के अनुसार शुरुआत में बल में 9919 जवान होंगे और एक वर्ष में 1747 करोड़ रुपये खर्च होना का अनुमान लगाया गया है.

बताया जा रहा है कि यूपीएसएसएफ के जवानों की स्पेशल ट्रेनिंग कराई जाएगी और ट्रेनिंग के बाद इन जवानों को प्रदेशभर में मेट्रो रेल, एयरपोर्ट, औद्योगिक संस्थानों, बैंकों, वित्तीय संस्थानों, महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, ऐतिहासिक, धार्मिक व तीर्थ स्थलों एवं अन्य संस्थानों व जिला न्यायालयों आदि की सुरक्षा में तैनात किया जाएगा. इस बल का गठन केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की तर्ज पर किया जा रहा है. एसएसएफ के जवानों के पास आधुनिक हथियार होंगे और वो उन्नत तकनीक से लैस होंगे. अधिसूचना के अनुसार, फोर्स का मुख्यालय लखनऊ में होगा.

अमेरिकी अखबार का दावा- गलवान में हुई झड़प में मारे गए थे 60 चीनी सैनिक

First published: 13 September 2020, 22:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी