Home » इंडिया » yogi adityanath speaks wrong stanza on bsp sp alliance in up bypoll
 

बुआ-भतीजा मिलन पर सीएम योगी बोल गए गलत दोहा- 'कह कबीर कैसे निभे बेर केर का संग'

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2018, 14:39 IST

यूपी में होने जा रहे फूलपुर और गोरखपुर उपचुनाव के लिए बुआ और भतीजा साथ आने को तैयार हैं. यानि मायावती ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को समर्थन करने का का विचार किया है. जिसे लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन पर तंज मारा है. योगी आदित्यनाथ ने एक दोहे के जरिए बुआ-भतीजा गठबंधन पर तंज मारा. हालांकि योगी ने जिस दोहे में कबीर का नाम लिया वो दोहा रहीम का है.

सपा और बसपा के अप्रत्याशित गठबंधन पर पूछ गए सवाल पर योगी आदित्यनाथ ने, 'कह कबीर कैसे निभे केर बेर का संग, और मुझे लगता है कि जो मैं कह रहा हूं वही सही साबित होगा.' एबीपी न्यूज के अनुसार शायद योगी आदित्यनाथ जल्दी-जल्दी में गलत दोहा बोल गए.

 

क्या है दोहे का अर्थ?
योगी ने जिस दोहे का प्रयोग किया उसमें केर यानी केले के पेड़ और बेर यानी बेर के पेड़ का जिक्र है. बेर के पेड़ में बहुत सारे कांटे होते हैं और केले के पत्ते बहुत नाजुक होते हैं. इन दोनों की दोस्ती कभी नहीं हो सकती. क्योंकि बेर के कांटे से केले के नाजुक पत्ते को हमेशा नुकसान ही होता है. हालांकि यह दोहा कबीर ने नहीं रहीम ने कहा है.

उत्तर प्रदेश में दो सीटों फूलपुर और गोरखपुर पर 11 मार्च को लोकसभा उपचुनाव है. इस उपचुनाव में मायावती की पार्टी बीएसपी अखिलेश की समाजवादी पार्टी को समर्थन कर सकती है. इसके लिए आज इलाहाबाद और गोरखपुर में पार्टी के लोकल नेताओं की बैठक बुलाई गई है. उपचुनाव पर योगी ने कहा कि कोई दबाव नहीं है इससे पहले सिकंदरा जीते हैं, गोरखपुर और फूलपर भी जीतेगें.

First published: 4 March 2018, 14:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी