Home » इंडिया » Yogi Government has given the candidates for the teacher recruitment examination.
 

शिक्षक भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों को योगी सरकार ने दी बड़ी सौगात, नियमों में किया ये संशोधन

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 February 2019, 14:09 IST

यदि आप शिक्षक बनने का मौका ढूंढ रहे हैं, तो योगी सरकार द्वारा आपको ये मौका दिया जा रहा है. जी, हां उत्तर प्रदेश के योगी सरकार ने सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक भर्ती में साक्षात्कार को खत्म करने का ऐलान किया है. बताया जा रहा है कि अब माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड द्वारा इन स्कूलों के प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती होगी.

IndiGo एयरलाइन की 30 से ज्यादा उड़ानें रद्द, मुश्किल में यात्री, जानिए पूरा मामला

कैबिनेट बैठक में मंगलवार को उत्तर प्रदेश की माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड की नियमावली में संशोधन को मंजूरी दे दी है. एक सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक, कैबिनेट ने सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक भर्ती सीधे लिखित परीक्षा से कराने और साक्षात्कार व्यवस्था को खत्म करने का फैसला लिया है

दिल्ली: पश्चिमी इलाके की झुग्गियों में लगी आग, 250 झुग्गियां जलकर राख 

इतना ही नहीं प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त पदों के लिए भर्ती भी माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड से करने की मंजूरी दी गई है. मालूम हो कि माध्यमिक शिक्षा विभाग ने 15 फरवरी तक सहायता प्राप्त हाई स्कूल और इंटरमीडिएट स्कूलों में प्राथमिक शिक्षकों के पदों का ब्योरा मांगा है.

मालूम हो कि सहायक प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षक पदों के लिए बड़े स्तर पर पद खाली हैं. इस मुद्दे को शिक्षक संघ द्वारा कई बार उठाया गया है. इसी को लेकर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने भर्ती प्रक्रिया का आश्वासन दिया था और पिछले दिनों शिक्षा प्रमाणी में जरूरी परिवर्तन की घोषणा की थी, जिसके क्रम में सरकार ने खाली पदों को भरने और भर्ती प्रक्रिया में होने वली समस्याओं को हल करने के लिए सेवा नियावली में बदलाव किया है. इसके साथ ही माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड को जिम्मेदारी देते हुए लिखित परीक्षा से भर्तियां करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.

First published: 13 February 2019, 14:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी