Home » इंडिया » Yogi govt minister Raghuraj Singh says burqa connects with terrorism
 

CM योगी के मंत्री बोले- दैत्यों की वंशज पहनती है बुर्का, बैन कर दो बंद हो जाएगी आतंकियों की घुसपैठ

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2020, 14:24 IST

Yogi Minister on Burqa: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के एक मंत्री ने बुर्का को लेकर बहुत ही विवादित बयान दिया है. योगी सरकार(Yogi Adityanath Govt) में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री रघुराज सिंह ने मुसलमानों को राक्षसों का वंशज बताया दिया. सिर्फ इतना ही नहीं, रघुराज सिंह ने मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने की शुरूआत पर भी टिप्पणी की.

रघुराज सिंह ने कहा कि उनकी राय बुर्के को लेकर बिल्कुल स्पष्ट है. इस देश में बुर्का नहीं होना चाहिए, जैसे श्रीलंका, चीन, जापान, अमेरिका और कनाडा में नहीं है. भारत में बुर्का इसलिए बैन होना चाहिए, कि आतंकवादी न आ सकें. शाहीन बाग में लोग बुर्के में बैठे हैं. ऐसे ही लखनऊ में भी एक छोटा सा शाहीन बाग बनाया हुआ है.

उन्होंने कहा कि बुर्के में यूनिवर्सिटी के छात्र बैठे हैं. बुर्के में चोर-चकारों तथा बदमाशों को आड़ मिल जाती है. इसकी आड़ में आतंकवादियों को पनाह मिलती है. इस आड़ को खत्म किया जाना चाहिए और बुर्का पूरे भारत में बैन होना चाहिए.

 

रघुराज सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और सीएम योगी की सरकार से मैंने आग्रह किया है कि बुर्का बैन होना चाहिए. जब बुर्का बैन हो जाएगा तो आतंकवादियों का भी प्रवेश बंद हो जाएगा. महिलाओं के भेष में आतंकी भारत में घुसना चाहते हैं.  

इसके आगे उन्होंने का कथित इतिहास भी बताया. उन्होंने कहा कि वह बताना चाहते हैं कि बुर्का आया कहां से? रघुराज सिंह ने बताया कि रावण की बहन शूर्पणखा के राम जी ने नाक-कान काटे थे. इसके बाद वह अरब देश में चली गई छिपने के लिए. वहां जाकर सिर्फ उसने आंख खोली और बाकी सब बंद रखा. यही उसका उद्देश्य था.

शूर्पणखा के नाक-कान काट लिए गए थे, जिस कारण वो अपने अंगों को छुपाकर रखती थी. इसलिए बुर्का मनुष्य जाति के लिए नहीं है. दैत्यों के गुरु शुक्राचार्य ने मक्का में शिवलिंग की स्थापना की थी, वहीं से बु्र्के का चलन शुरू हुआ. बुर्के पहनने वाले लोग दैत्यों के वंशज हैं.

एकतरफा प्यार में पागल पूर्व प्रेमी ने जला दिया था जिंदा, महिला लेक्चरर की हफ्ते भर बाद मौत

'BJP-RSS नहीं चाहते कि एससी-एसटी आगे बढ़ेंं, उनके DNA में आरक्षण का विरोध'

First published: 10 February 2020, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी