Home » इंडिया » you have to tell about your income purchasing pattern to shopkeepers before purchase things
 

अब सामान खरीदने से पहले दुकानदार को बताना होगा आमदनी का जरिया, जानिए क्या है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 September 2019, 15:11 IST

अगर आप किसी दुकान पर सामान खरीदने जाते हैं और वहां दुकानदार आपसे आपकी आमदनी को लेकर कुछ सवाल पूछता है तो उसपर गुस्सा ना करें. क्योंकि सरकार अब आम लोगों के खर्च का पैटर्न जानने के लिए आर्थिक मेगा सर्वे कराने जारी है. इसके लिए दुकानदार आपके आपकी कमाई, पैसे खर्च करने के तरीके, आपने क्या-क्या खरीदा और क्या खरीदना पसंद करते हैं जैसे सवाल पूछ सकता है.

इस सर्वे को सरकार छोटे कारोबारियों से करार करने जा रही है ताकि देश के लोगों की बारे में उचित जानकारी हासिल की जा सके. दरअसल, सरकार लोगों की आमदनी और खर्च के डेटा का पैटर्न जानकर उसका उपयोग सही पॉलिसी बनाने के लिए करेगी. हालांकि इस तरह की जानकारी देने के लिए हर कोई तैयार नहीं होगा तो दुकानदार आपको इसके लिए प्रोत्साहित करेंगे.

इस सर्वे के अंतर्गत सिर्फ ग्राहकों को ही अपनी इनकम से जुड़ी जानकारियां नहीं देनी होंगी, बल्कि दुकानदारों को भी अपनी आमदनी से जुड़ी जानकारी सरकार को देनी होगी. उन्हें यह भी बताना होगा कि उनका कारोबार किस तरह का है और उनकी दुकान पर कितने लोग काम करते हैं. साथ ही उनका रहन-सहन कैसा है. बता दें कि इस पूरे सर्वे में देश के करीब सात करोड़ कारोबारियों को शामिल किया जाएगा. उनसे यह भी पूछा जाएगा कि क्या उन्हें लोन की भी जरूरत है, सरकारी सेवाओं का उनका अनुभव कैसा रहा है. इसके लिए एक खास ऐप भी तैयार किया गया है. इस ऐप के जरिए बेसिक जानकारियां इकट्टी की जाएंगी.

सीएनबीसी आवाज की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार ने अगस्त से बिहार, पुडुचेरी, त्रिपुरा और छत्तीसगढ़ से इस मुहिम की शुरुआत कर दी है, लेकिन सीधा ग्राहकों से इस जानकारी को जुटाना मुश्किल हो रहा है. इसलिए अब सरकार इसमें दुकानदारों को जोड़ रही है. इस सर्वे में दुकानदारों के अलावा बीस करोड़ परिवारों को भी जोड़ा गया है. अब सरकार को उम्मीद है कि अगले चार महीने में इस सर्वे के पूरा कर लिया जाएगा.

SBI ने लाखों ग्राहकों को दिया झटका, FD की ब्याज दरों में की इतनी कटौती

First published: 9 September 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी