Home » इंडिया » Zakir Naik aide Arshid Qureshi arrested for recruiting youths for ISIS
 

जाकिर नाइक का करीबी गिरफ्तार, युवाओं को आईएस में भर्ती के लिए प्रेरित करने का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 July 2016, 10:23 IST
(फाइल फोटो)

विवादित इस्लाम प्रचारक जाकिर नाइक के एक करीबी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. महाराष्ट्र एटीएस और केरल पुलिस ने एक संयुक्त ऑपरेशन में जाकिर नाइक के करीबी अरशीद कुरैशी को नवी मुंबई से अपनी गिरफ्त में लिया.

अरशीद पर केरल से लापता करीब 21 युवकों में से कुछ को ईसाई धर्म से मुसलमान बनाने और उन्हें आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट में शामिल होने के लिए प्रेरित करने का आरोप है. गिरफ्तारी के बाद अरशीद को कोर्ट में पेश किया गया. अदालत ने उसे 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. 

अरशीद कुरैशी नवी मुंबई से गिरफ्तार

अब महाराष्ट्र एटीएस अरशीद से पूछताछ करेगी. इसके बाद उसे केरल ले जाया जाएगा. दरअसल अरशीद कुरैशी जाकिर नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से जुड़ा हुआ है.

पढ़ें: जाकिर नाइक ने खुद को बताया शांतिदूत, कहा मीडिया ट्रायल का हुआ शिकार

इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन में कुरैशी पब्लिक रिलेशन अफसर था. एटीएस सूत्रों की मानें तो केरल से गायब युवक और युवतियों में से एक परिवार की शिकायत पर ये कार्रवाई की गई.

परिवार का आरोप है कि अरशीद कुरैशी ने ही उनके बेटे और बेटियों को धर्मपरिवर्तन के लिए प्रेरित किया और इसके बाद आईएस से जुड़ने के लिए उकसाया.

कोच्चि में कुरैशी के खिलाफ केस

केरल के एबिन जेकब ने कोच्चि पुलिस को बताया था कि उसकी बहन मेरिन उर्फ मरियम, अपने पति बेस्टिन विन्सेंट उर्फ याह्या के साथ लापता है.

एबिन ने आरोप लगाया है कि मरियम को बेस्टिन और अरशीद ने इस्लाम अपनाने और आईएस में भर्ती होने के लिए उकसाया.

एबिन के मुताबिक इस साजिश के पीछे बेस्टिन और कुरैशी का हाथ था. एबिन के बयान के आधार पर पुलिस ने दोनों को गैरकानूनी एक्टिविटीज (प्रिवेंशन) एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है. 

केरल से 21 लोग लापता

इस मामले में केरल में एफआईआर दर्ज है. अरशीद कुरैशी के खिलाफ कोच्चि में आईपीसी की धारा 120 बी (आपराधिक साजिश) और धारा 153 ए (शत्रुता फैलाने) के साथ-साथ गैर कानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है.

पढ़ें: ढाका हमला: मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक जांच की जद में!

वहीं इस गिरफ्तारी पर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के प्रवक्ता ने कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया है. गौरतलब है कि बांग्लादेश के ढाका के कैफे में हुए आतंकी हमले में शामिल दो आतंकियों ने जाकिर नाइक के भाषणों से प्रेरित होने की बात कही थी.

First published: 22 July 2016, 10:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी