Home » इंडिया » Zakir Naik slams Indian media for spreading fake news says always cross check information
 

विवादित धर्मगुरू जाकिर नाईक ने भारतीय मीडिया को फेक न्यूज फैलाने वाला बताया

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2018, 14:21 IST

विवादास्पद इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक ने भारतीय मीडिया पर उनके बारे में झूठी खबर फैलाने का आरोप लगाया. भारतीय मीडिया पर हमला करते हुए जाकिर नाइक ने कहा कि किसी के बारे में झूठी खबर फैलाने से पहले एक बार जांच कर लें. जाकिर नाइक ने अपने फेसबुक पेज पर वीडियो जारी कर भारतीय मीडिया को आड़े-हाथों लिया है.

जाकिर ने वीडियो जारी कर कहा, "दो दिन पहले भारत की मीडिया ने मेरे खिलाफ गलत खबर फैलाई कि मुझे मलेशिया सरकार गिरफ्तार करने जा रही है और उसी दिन भारत को सौंप देगी. यह गलत खबर साबित हुई."

नाइक ने कहा, "भारतीय मीडिया किसी भी मुद्दे को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने में माहिर है. वह ऐसे खबरों को सनसनी बनाते हैं कि दर्शक उस खबर को सही मानने की गलती कर बैठते हैं. लेकिन आज साबित हो गया कि वह खबर बिन सिर-पैर के और आधारहीन थी. पिछले दो साल से भारतीय मीडिया मेरे खिलाफ ऐसे ही फर्जी खबरें फैला रही हैं. 4 जुलाई 2018 को फैलाई गई उनकी खबर दो साल पहले मेरे खिलाफ चलाए गए अभियान का हिस्सा है." 

बता दें कि एक दिन पहले ही भारत को बड़ा झटका देते हुए मलेशिया की सरकार ने विवादित धर्मगुरु के प्रत्यर्पण से इनकार कर दिया है. मलयेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने शुक्रवार को कहा कि नाईक को भारत नहीं भेजा जाएगा. मोहम्मद ने दो टूक कहा कि जब तक जाकिर हमारे देश में कोई दिक्कत खड़ी नहीं कर रहे हैं तब तक हम उन्हें प्रत्यर्पित नहीं करेंगे. क्योंकि जाकिर को मलेशिया की नागरिकता प्राप्त है. इससे पहले खबर आ रही थी जाकिर नाइक को मलेशिया सरकार गिरफ्तार कर भारत को सौंप देगी.

पढ़ें- भारत को बड़ा झटका, मलेशियाई PM ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण से किया इनकार

जाकिर नाईक काफी समय से मलयेशिया में शरण लेकर रह रहा है. जाकिर को मलेशिया की नागरिकता प्राप्त है. भारत और मलेशिया के बीच आतंकवाद से निपटने को लेकर बढ़ते सहयोग के बावजूद नाईक मलेशिया में शरण पाने में सफल रहा था. हालांकि प्रधानमंत्री मोदी की 31 मई के दौरे के बाद नाईक की मुश्किलें बढ़ गई थीं. लेकिन मलेशिया के प्रधानमंत्री ने स्पष्ट कर दिया है कि वह नाईक को वापस भारत नहीं लौटाएंगे.

First published: 7 July 2018, 13:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी