Home » इंडिया » Zakir Naik thanks Malaysian government and PM Dr Mahathir for letting him stay
 

जाकिर नाईक ने आतंकवाद के आरोपों को मीडिया की साजिश बताया

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 July 2018, 19:03 IST

विवादित इस्लामिक प्रचारक ज़ाकिर नाईक ने सपोर्ट करने के लिए मलेशिया के प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया है. नाईक ने एक बयान जारी कर कहा है कि मैं मलेशिया सरकार का धन्यवाद देता हूं. उन्होंने मेरे नजरिए को निष्पक्ष रूप से देखा. मुझे मलेशिया में रहने की अनुमति देने के लिए मैं मलेशिया के प्रधानमंत्री को भी धन्यवाद देता हूं. मलेशिया के प्रधानमंत्री के इस फैसले ने मुझे मलेशिया के न्यायपूर्ण और सांप्रदायिक सद्भाव वाले माहौल पर ज्यादा विश्वास जताने का मौका दिया है. उनके इस फैसले ने मलेशिया की विविधतापूर्ण संस्कृति पर मेरा भरोसा और प्रगाढ़ किया है. मैं किसी भी हालात में इस देश के कानून को तोड़ने का प्रयास नहीं करूंगा और ना हीं इस देश के लोगों के बीच बने सामाजिक सद्भाव को किसी भी तरह नुकसान न पहुंचाऊं.

जाकिर नाईक ने कहा है कि मीडिया में मेरे खिलाफ खबरों की बाढ़ सी आई है. कुछ लोग मुझ पर आतंकवादियों को शह देने का इल्जाम लगा रहे हैं. ऐसी खबरों से इस्लाम के प्रति धारणा गलत धारणा बनाने की कोशिश की जा रही है. जब उनको मेरे खिलाफ सबूत नहीं मिले तो वीडियो क्लिप्स में कांट-छांट कर मेरे बयानों को गलत तरीके से पेश किया. मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों में अभियुक्त बनाने की कोशिश की.

यूट्यूब पर कई ऐसे मेरे वीडियो मौजूद हैं. जिनका मुझसे कोई संबंध नहीं है. गलत बयानों के साथ मेरी तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया. ये ऐसा कर इस्लाम से लोगों का भरोसा उठाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके लिए गलत तरीके अपनाए जा रहे हैं. मैं आपको बता देना चाहता हूं कि मानवता के खिलाफ मैंने कोई बयान नहीं दिया है. मैंने अपने 25 साल के इस्लाम और शांति के लैक्चर में आतंकवाद को बढ़ाने की बात नहीं की.

मैं हमेशा कहता रहा हूं कि एक मुस्लिम अच्छा मुस्लिम तब तक नहीं हो सकता जब तक वो अच्छा इंसान न हो. मैंने हमेशा सांप्रदायिक शांति और सौहार्द के लिए काम किया है जो कि मेरे खिलाफ बनाई जा रही इमेज के एकदम विपरीत है. मैं अपने देश लौटने के बाद भी मलेशिया का शुक्रगुराज रहूंगा. मलेशिया ने मुझे एक ऐसे सख्स की तरह देखा जो इंसानियत से प्यार करता है. मेरी दुआ रहेगी कि अल्लाह दुनिया के बाकी देशों से अलग मलेशिया को एक सुपरपावर की तरह आगे बढ़ाए.

बता दें कि हाल ही में कुछ खबरें आई थी कि मलेशिया सरकार जाकिर नाईक को भारत को सौंप सकती है, लेकिन बाद में ये खबरें झूठी निकली थी. मलेशिया सरकार ने जाकिर को भारत को सौंपने से इनकार कर दिया है. मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने कहा है कि वो भारत के विवादित मुस्लिम उपदेशक जाकिर नाईक को आसानी से महज इसीलिए नहीं डिपोर्ट कर देंगे क्योंकि भारत ऐसा चाहता है. मेलशिया सरकार का ये कदम भारत के लिए झटका माना जा रहा है.

ये भी पढ़ें- जाकिर नाईक ने गिरफ्तारी की खबरों को बताया गलत, भारत लौटने की तारीख का किया खुलासा

First published: 11 July 2018, 19:02 IST
 
अगली कहानी