Home » इंटरनेशनल » 10% drop in H-1B visa approvals in 2018: US authorities
 

अमेरिकी एच-1 बी वीजा की मंजूरी में आयी बड़ी गिरावट, ट्रंप ने सख्त किये थे नियम

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 June 2019, 13:19 IST

अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार 2018 में एच -1 बी वीजा के लिए आवेदन करने वालों की मंजूरी में 0% की गिरावट दर्ज की गई है. यह वीजा भारतीय आईटी पेशेवरों में लोकप्रिय माना जाता है. अमेरिकी नागरिकता और आव्रजन सेवा (यूएससीआईएस) ने वित्तीय वर्ष 2018 में 335,000 एच -1 बी वीजा को मंजूरी दी, जिसमें नए और नवीकरणीय दोनों शामिल थे.

USCIS की वार्षिक सांख्यिकीय रिपोर्ट के अनुसार, 2017 के पिछले वित्त वर्ष में यह 373,400 से 10% कम था. एच -1 बी की अनुमोदन दर 2017 में 93% से घटकर 2018 में 85% हो गई. माइग्रेशन पॉलिसी इंस्टीट्यूट की विश्लेषक सारा पियर्स ने द मर्करी न्यूज के हवाले से कहा, "इस प्रशासन ने एच -1 बी कार्यक्रम के उपयोग पर रोक लगाने के लिए रणनीति बनाई है और ये प्रयास अब आंकड़ों में दिखाई दे रहे हैं."

 

इस वित्तीय वर्ष के पहले छह महीनों के लिए नए वीजा के लिए समग्र एच -1 बी अनुमोदन दर मार्च के अंत तक घटकर 79 प्रतिशत रही, जो पिछले साल 85% थी. नवीनतम सांख्यिकीय वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार 2018 में, USCIS ने 2017 में 403,300 के मुकाबले 396,300 H-1B एप्लिकेशन को पूरा किया . 2018 में यह संख्या 396,300 H-1B थी.

2018 में, यूएससीआईएस ने 850,000 प्राकृतिककरण अनुरोधों को पूरा किया, पांच साल का उच्च और 1.1 मिलियन ग्रीन कार्ड प्रदान किए. भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच लोकप्रिय एच -1 बी वीजा एक गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों को विशेष व्यवसायों में काम करने की अनुमति देता है.

चीन ने अपने नागरिकों से कहा-अमेरिका की यात्रा न करें, इस बात का दिया हवाला

First published: 5 June 2019, 10:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी