Home » इंटरनेशनल » 18 Years old Girl assaulted by 5 man during bull fight festival in Spain Court says it is not rape
 

5 लड़कों ने गैंगरेप कर बनाया लड़की का वीडियो, कोर्ट ने रेप मानने से किया इंकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 April 2018, 13:02 IST

स्पेन में कोर्ट के एक फैसले के खिलाफ हजारों लोगों ने सड़क पर विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक, दो साल पहले स्पेन के चर्चित बुल फेस्टिवल के दौरान एक 18 साल की युवती के साथ कथित तौर पर 5 लोगों ने गैंगरेप किया. यही नहीं आरोपियों ने इस दौरान युवती का वीडियो भी बनाया और उसे व्हाट्सएप पर शेयर कर दिया.

वाशिंगटन पोस्ट की खबर के मुताबिक, वीडियो में युवती की आंखे बंद थी और वह पैसिव थी. आरोपियों के वकील ने इस बात को कोर्ट में इस तरह पेश किया कि इस मामले में लड़की की सहमति थी. आरोपियों की ओर से कोर्ट में लड़की की कुछ तस्वीरें भी पेश की गई थी. बता दें कि वारदात के कुछ दिनों बाद एक प्राइवेट इन्वेस्टिगेटर ने लड़की का पीछा किया और उसकी हंसते और दोस्तों के साथ बात करते हुए फोटोज क्लिक कर ली थी.

इन्हीं तस्वीरों को कोर्ट में पेश कर आरोपियों ने कहा कि वारदात के बाद लड़की दर्द से नहीं गुजरी. वहीं दूसरी ओर पीड़ित लड़की के वकील ने आरोपी पक्ष की दलीलों का कड़ा विरोध किया. इस मामले में कोर्ट में करीब दो साल तक सुनवाई चली.

अंत में कोर्ट ने आरोपियों को सेक्शुअल असॉल्ट के केस से बरी कर दिया. साथ ही उन्हें सेक्शुअल एब्यूज का दोषी माना. इस तरह कोर्ट ने आरोपियों को केवल 9 साल की सजा सुनाई. जबकि, पीड़िता के वकील ने आरोपियों को कम से कम 22 साल की सजा की मांग की थी, लेकिन कोर्ट ने दोषियों को सिर्फ 9-9 साल की सजा के साथ महिला को 8-8 लाख रुपए देने का आदेश दिया.

वहीं स्पेन के नेताओं ने यौन हिंसा से जुड़े कानून में बदलाव करने का वादा किया है. बता दें कि स्पेन के मौजूदा कानून के मुताबिक बलात्कार साबित करने के लिए पीड़ित को यह भी प्रूव करना होता है कि आरोपी हिंसक और डराने वाली हरकत कर रहा था.

बता दें कि कोर्ट का फैसला आने के बाद एक ऑनलाइन पिटीशन भी डाली गई. जिसमें 12 लाख लोगों ने ट्रायल जज को हटाने की मांग पर हस्ताक्षर किए है. वहीं कोर्ट के इस आदेश के बाद स्पेन की सड़कों पर विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया है. लोगों का कहना है कि यह यौन दुर्व्यवहार नहीं बलात्कार है.

ये भी पढ़ें- बिप्लब देब के बाद विजय रूपानी की अजीब दलील: नारद गूगल की तरह सब कुछ जानते थे

First published: 30 April 2018, 13:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी