Home » इंटरनेशनल » 1810 pakistani hindu get indian citizenship
 

1810 पाकिस्तानी हिंदुओं को मिली भारतीय नागरिकता

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2016, 12:08 IST
(एजेंसी)

पाकिस्तान के 1810 हिंदू अल्पसंख्यकों को बीते साढ़े पांच साल के दौरान केंद्र सरकार ने भारत की नागरिकता प्रदान की है. पाक अल्पसंख्यकों ने भारत सरकार से गुहार लगाई थी कि वो उन्हें भारत की नागरिकता दें, जिससे वो निर्बाध तरिके से भारत में रह सकें.

यह जानकारी मध्यप्रदेश के नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने दी. उन्होंने सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत एक आवेदन किया था, जिसका केंद्रीय गृह मंत्रालय के 29 जुलाई को जवाब दिया.

इस संबंध में गृह मंत्रालय के एक उप सचिव ने बताया कि केंद्र सरकार ने साल 2011 में 301, साल 2012 में 356, साल 2013 में 301, साल 2014 में 266 और साल 2015 में 263 पाक हिंदू अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता प्रदान की है.

उन्होंने बताया कि मौजूदा वर्ष में 15 जून तक 323 पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों की मांग को स्वीकार करते हुए भारतीय नागरिकता प्रदान की गई है.

इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि इस समय केंद्र सरकार 2,062 पाकिस्तानी हिंदू अल्पसंख्यकों की नागरिकता की अर्जी पर विचार कर रही है.

पाकिस्तान छोड़कर भारत आने वाले सिंधी हिंदुओं की मदद के लिये गठित संस्था ‘हिंदू सिंधी विस्थापित सहायता केंद्र’ के राष्ट्रीय संयोजक शंकर लालवानी ने कहा, "पाकिस्तान से विस्थापित होकर जो भी हिंदू अल्पसंख्यक भारत की शरण लेते हैं, उनमें से ज्यादातर सिंधी हिंदू हैं.

इन अल्पसंख्यकों को पाकिस्तान में धार्मिक भेदभाव के कारण हिंसक वारदातों का भी सामना करना पड़ रहा है, जिससे वहां इस समुदाय में असुरक्षा का भाव दिनों-दिन बढ़ रहा है. पाकिस्तान से विस्थापित सिंधी हिंदू भारत में खुद को सुरक्षित महसूस करते हैं."

लालवानी ने कहा, "जब पाकिस्तान में धार्मिक कट्टरपंथ के कारण सियासी अस्थिरता का माहौल बनता है, तब वहां से सिंधी हिंदुओं के पलायन कर भारत में शरण लेने का सिलसिला तेज होता है."

उन्होंने मांग की है कि पड़ोसी मुल्क से विस्थापित सिंधी हिंदुओं की भारतीय नागरिकता के लम्बित मामले सरकार जल्द से जल्द निपटाए, जिससे उन्हें भारत में एक नागरिक के रूप में बुनियादी अधिकार हासिल हो सकें.

First published: 3 August 2016, 12:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी