Home » इंटरनेशनल » 8 majestic forts show India-Pakistan's joint rich heritage
 

पाकिस्तान में मौजूद हिंदुस्तान की साझी विरासत

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 6 February 2016, 22:08 IST

पाकिस्तान में खूबसूरती के कई आयाम मौजूद हैं. ऐसे में अगर आप केवल वहां के ग्लेशियरों और हरे-भरे मैदानों के बारे में ही सोचते हैं तो निश्चित रूप से आप वहां की कई शानदार ऐतिहासिक इमारतों को भूल रहे हैं. पाकिस्तान की खूबसूरती को चार चांद लगाने वाली कुछ ऐसी ऐतिहासिक धरोहरें आज भी मौजूद हैं जो उसकी जड़ों को हिंदुस्तान से जोड़ती हैं.

पाकिस्तान के प्रमुख अखबार डॉन ने पिछले हफ्ते फोर्ट्स ऑफ पाकिस्तान यानी पाकिसतान के ऐतिहासिक किले के नाम से इस्टाग्राम पर एक ऑनलाइन अभियान चलाया. इसके अंतर्गत आई प्रविष्टियों को डॉन की वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया.

हालांकि इसके अंतर्गत पेश की गई तस्वीरें उन ऐतिसाहिक इमारतों को दिखाती हैं जो आजादी से भी काफी पहले की हैं यानि कि उस वक्त जब दोनो हिस्से एक हिंदुस्तान हुआ करते थे. आप भी देखिए पाकिस्तान-हिंदुस्तान की साझा विरासत पेश करती कुछ धरोहर.

1. खापलू किला

pakistan haritage: Khaplu fort .jpg

गिलगिट-बाल्टिस्तान में स्थित 19वीं शताब्दी में निर्मित यह किला आज भी प्रमुख पर्यटन स्थल के रूप में शामिल है. यह खापलू के राजा का शाही निवास था. डॉन ने इसे नंबर एक पायदान पर रखते हुए बताया कि इसने सबसे ज्यादा प्रभावित किया. कई क्षेत्रों की सीमा पर स्थित यह किला स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है जिसमें तिब्बती, कश्मीरी, लद्दाखी, बाल्टी और मध्य एशियाई प्रभाव साफ दिखता है.

2. रामकोट किला

pakistan haritage: Ramkot Fort.jpg

आजाद कश्मीर क्षेत्र के मंगला डैम के बगल में बना रामकोट किला अपनी अनूठी स्थापत्य कला के लिए प्रसिद्ध है. यह अन्य किलों की अपेक्षा एक अलग ही छटा बिखेरता है. इस मजबूत किले में पहुंचने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ता है. इसे 16-17वीं शताब्दी में मुसलमान शासकों द्वारा बनवाया गया था

3. बाल्टिट किला

pakistan haritage: Baltit Fort.jpg

गिलगिट-बाल्टिस्तान, पाकिस्तान की हुंजा खाड़ी में स्थित बाल्तित किला एक प्राचीन किला है जिसे 2004 में यूनेस्को द्वारा वैश्विक धरोहरों में शामिल कर दिया गया है. यह  किला करीब 700 वर्ष पुराना है. जिसमें कई बार बदलाव और निर्माण हुआ है. 

pakistan haritage: Baltit Fort1.jpg

4. लाहौर किला

pakistan haritage: Lahore Fort.jpg

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के लाहौर शहर में स्थित इस किले को शाही किला के नाम से भी पुकारा जाता है. 1981 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहरों में शामिल किए गए इस किले का शुरुआती इतिहास तो काफी पुराना है लेकिन इसका मौजूदा ढांचा मुगल बादशाह अकबर के सन 1556-1605 के शासनकाल में निर्मित किया गया था.

pakistan haritage: Lahore Fort1.jpg

5. देरावर किला

pakistan haritage: Derawar Fort2.jpg

पंजाब प्रांत के बहावलपुर में मौजूद देरावर किले का बुर्ज चोलिस्तान मरुस्थल में कई मील दूर से दिखाई देता है. इस किले की दीवारों की परिधि 1500 मीटर और ऊंचाई 30 मीटर है. नौवीं सदी में बनाए गए इस किले का निर्माण भट्टी समुदाय के राजपूत शासक राय जज्जा भट्टी ने करवाया था. 

6. रावत किला

pakistan haritage: Rawat Fort.jpg

16वीं शताब्दी में पोथोहर पठार में इस किले का निर्माण गखारों द्वारा करवाया गया था. जीटी रोड स्थित रावलपिंडी के 17 किलोमीटर पूर्व में स्थित इस किले के अंदर गक्कार मुखिया सुल्तान सारंग खान की कब्र मौजूद है. सन 1546 में यहां सुल्तान सारंग और अफगान राजा शेर शाह सूरी के बीच युद्ध हुआ था.

7. रोहताश किला

pakistan haritage: Rohtas Fort.jpg

पंजाब प्रांत के झेलम शहर के पास स्थित इस ऐतिहासिक किले का निर्माण अफगान राजा शेर शाह सूरी ने 16वीं सदी में करवाया था. यह चार किलोमीटर की परिधि में फैला हुआ है. इसे स्थानीय बागी पोटोहर जनजातियों को दबाने के लिए बनाया गया था. इसके निर्माण में आठ साल का वक्त लगा था.

8. आल्टित किला

pakistan haritage: Altit Fort.jpg

गिलगित-बाल्टिस्तान की हुंजा खाड़ी के अल्टित कस्बे में बने इस किले का शिकारी टावर करीब 1100 साल पुराना है. यह मूलरूप से हुंजा राज्य के वंशानुगत शासकों का घर था जो मीर शीर्षक लगाते थे. यह गिलगित-बाल्टिस्तान की सबसे पुरानी ऐतिहासिक धरोहर है.

First published: 6 February 2016, 22:08 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी