Home » इंटरनेशनल » abdul basit says pakistan rethink on kulbhusan jadhav death sentence.
 

अब्दुल बासित: कुलभूषण जाधव की सज़ा पर पाकिस्तान कर सकता है पुनर्विचार

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2017, 16:49 IST

पाकिस्तान की जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की फांसी को लेकर भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित का बड़ा बयान सामने आया है. अंग्रेजी अखबार द हिंदू को दिए इंटरव्यू में बासित ने कहा है कि जाधव की सज़ा पर पुनर्विचार की गुंजाइश है.

अब्दुल बासित ने कहा, "अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के अलावा भी कुलभूषण जाधव के पास फांसी की सजा से बचने के उपाय हैं. अगर ‘कोर्ट ऑफ अपील’ से भी जाधव की अपील रद्द हो जाती है, तो उनके पास अपील का मौका है. जाधव पहले आर्मी चीफ जनरल से दया की फरियाद कर सकते हैं, उसके बाद राष्ट्रपति के पास भी दया याचिका दी जा सकती है."

पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा कि कुलभूषण जाधव का मामला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में है, इसलिए उन्हें फांसी नहीं दी जाएगी. बासित का कहना है, "कुलभूषण जाधव को तब तक फांसी नहीं दी जाएगी, जब तक अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में इस केस की प्रक्रिया खत्म नहीं हो जाती, भले ही इसमें दो से तीन साल लग जाए. हम इस प्रक्रिया को जल्दी से खत्म करना चाहते हैं."

मार्च में पाकिस्तान ने जाधव को किया था गिरफ्तार

पाकिस्तान में कथित जासूसी के आरोप में गिरफ्तार भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई गई थी. जाधव को 3 मार्च, 2016 को बलूचिस्तान के चमान इलाके से जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

जाधव की सजा के खिलाफ भारत सरकार  ने 8 मई को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में अपील की थी. इसके बाद हुई सुनवाई में अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी. फिलहाल ये मामला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में लंबित है.

First published: 21 June 2017, 16:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी