Home » इंटरनेशनल » Alibaba’s Jack Ma is a member of the Communist Party, reveals state newspaper
 

खुलासा: कम्युनिस्ट पार्टी के मेंबर हैं चीन के सबसे अमीर व्यक्ति और अलीबाबा के फाउंडर जैक मा

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 November 2018, 14:01 IST

चीन की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के चेयरमैन कारोबारी जैक मा कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य हैं. पीपुल्स डेली अख़बार ने यह खुलासा किया है, जो चीन में कम्युनिस्ट पार्टी का आधिकारिक अख़बार है. इस बात का खुलासा तब हुआ जब पार्टी की केंद्रीय समिति 100 सदस्यों को सम्मानित किया गया, जिसमे जैक मा का भी नाम शामिल था. फोर्ब्स के अनुसार जैक मा 35.8 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ चीन का सबसे अमीर व्यक्ति हैं.

चीन की कम्युनिष्ट पार्टी की योजना चीन में तीन इंटरनेट दिग्गजों - बायडू के रॉबिन ली, टेनेंट्स के पोनी मा और अलीबाबा के जैक मा को सम्मानित करने की है. अख़बार इ कहा गया है कि "उनके नेतृत्व में अलीबाबा बाजार मूल्य के मामले में शीर्ष 10 वैश्विक कंपनियों में से एक है, जिसमें चीन का अंतरराष्ट्रीय ई-कॉमर्स उद्योग, इंटरनेट फाइनेंस और क्लाउड कंप्यूटिंग में अग्रणी खिलाड़ी बन गया है. अख़बार में कहा गया है कि अलीबाबा के कारण बड़ी संख्या में उद्यमी और स्टार्ट-अप बढ़ रहे हैं.

पार्टी द्वारा तैयार 100 नामों की सूची में राजनेता, व्यवसायी, अर्थशास्त्री, वैज्ञानिक, अंतरिक्ष यात्री और कलाकार समेत विभिन्न क्षेत्रों के लोग शामिल हैं. जिनमें से अधिकतर कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य हैं, हालांकि रॉबिन ली और पोनी मा जैसे लोग किसी भी राजनीतिक संगठन से संबद्ध नहीं हैं.

 

अलीबाबा ने मा की पार्टी सदस्यता पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन कहा कि राजनीतिक संबंधों से कंपनी के संचालन पर कोई असर नहीं पड़ा है. रॉयटर्स के अनुसार कम्पनी के एक प्रवक्ता ने कहा, "किसी भी कार्यकारी की राजनीतिक संबद्धता कंपनी की व्यावसायिक निर्णय लेने की प्रक्रिया को प्रभावित नहीं करती है. हम उन देशों में सभी कानूनों और विनियमों का पालन करते हैं जहां हम काम करते हैं क्योंकि हम लोगों को डिजिटल युग में कहीं भी व्यवसाय करना आसान बनाने के हमारे मिशन को पूरा करते हैं."

मा ने अलीबाबा की स्थापना 17 लोगों के साथ की. जिनमे से अधिकतर उनके स्टूडेंट थे. मा में पूर्वी Zhejiang प्रांत के हांग्जो में अपने अपार्टमेंट में अलीबाबा की स्थापना की. उन्होंने इसे 500 मिलियन से अधिक चीनी ग्राहकों के साथ 420 अरब डॉलर की कंपनी बनाया. मा ने पहले घोषणा की थी कि वह अगले वर्ष सितंबर में समूह के कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में पद छोड़ेंगे. ई-कॉमर्स के अलावा अलीबाबा डिजिटल भुगतान, ऑनलाइन बैंकिंग, क्लाउड कंप्यूटिंग और डिजिटल मीडिया और मनोरंजन को भी संभालती है.

ये भी  पढ़ें : खुलासा: 'मोदीकेयर' योजना में हो रहे रूट कैनाल जैसे ईलाज, ज्यादातर अस्पताल मान्यताप्राप्त नहीं

First published: 27 November 2018, 13:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी