Home » इंटरनेशनल » America: Donald Trump can lose power, impeachment resolution passed in House of Representatives
 

क्या ट्रंप से छिन जाएगी अमेरिका की सत्ता, हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में महाभियोग प्रस्ताव पारित

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 December 2019, 12:10 IST

Donald Trump Impeached: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए बुरी खबर है. हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव(House of Representatives) ने बुधवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप(President Trump) के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव(Impeachment) में वोट दिया. इसके साथ ही हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पारित हो गया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप पर कांग्रेस को बाधित करने और सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगा है. ट्रंप अमेरिकी इतिहास के ऐसे मात्र तीसरे राष्ट्रपति बन गए हैं, जिनके खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाया गया है. इससे पहले ट्रंप ने ट्वीट कर डेमोक्रेट्स के महाभियोग के प्रयास को अमेरिका के साथ-साथ रिपब्लिकन पार्टी पर हमला करने का प्रयास बताया था.

हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव अमेरिकी संसद का निचला सदन है. जहां से महाभियोग प्रस्ताव पास हुआ है. यहां डेमोक्रेटिक पार्टी का बहुमत है. ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास होने के लिए हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में 216 वोटों की आवश्यकता थी. यहां पर डेमोक्रेटिक पार्टी के पास 233 सदस्य हैं. इसी कारण हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में रिपब्लिकन पार्टी के ट्रंप को हार का मुंह देखना पड़ा.

क्या चली जाएगी ट्रंप की सत्ता?

अब सबके सामने सवाल यह है कि आगे क्या होगा? निचले सदन से महाभियोग प्रस्ताव पारित होने के बाद ट्रंप के सामने कैसी मुश्किल आने वाली है? बता दें कि सिर्फ हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास होने के आधार पर ट्रंप की सत्ता नहीं जाएगी और न ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ेगा.

निचले सदन के ही आधार पर सीनेट में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पेश नहीं किया जा सकता. सीनेट में अगर महाभियोग प्रस्ताव लाने का फैसला लिया भी जाता है तो इसके लिए सीनेट के दो तिहाई सदस्यों की मंजूरी जरूरी होगी. लेकिन सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी को बहुमत हासिल है. सीनेट में डेमोक्रेटिक पार्टी के 45 सदस्य हैं इसके अलावा 2 निर्दलीय हैं. वहीं रिपब्लिकन पार्टी के 53 सदस्य हैं. 

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग लाने के लिए रिपब्लिकन पार्टी के कम से कम 20 सदस्यों को राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ वोट करना होगा. लेकिन ऐसा मुमकिन लगता नहीं है. यहां तक कि पिछले दिनों डेमोक्रेटिक पार्टी के ही सदस्य पार्टी लाइन के खिलाफ जाकर कई मुद्दों पर ट्रंप का समर्थन कर चुके हैं.

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को अदालत ने सुनाई मौत की सजा

ट्रंप ने बनाया ट्विटर पर रिकॉर्ड, दो घंटे में 123 ट्वीट कर निकाली भड़ास

First published: 19 December 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी