Home » इंटरनेशनल » America new resolution on jem head masood azhar in unsc pulwama attack china
 

क्या मसूद अजर इस बार होगा वैश्विक आंतकी घोषित ? अमेरिका ने उठाया ये कदम

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2019, 11:11 IST

जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया मसूद अजहर को एक बार फिर वैश्किव आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव UNSC में लाया गया है. बताया जा रहा है कि इस बार भारत को इस मुद्दे पर बड़ी सफलता मिल सकती है.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मसूद के समर्थन में चीन द्वारा ढाल बनने के बावजूद इस बार अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन आगे आए हैं. ये देश अब चीन को छोड़कर अन्य सदस्यों देशों से प्रस्ताव पर बात करेंगे और समिति पर दबाव डालने की कोशिश करेंगे. इसके साथ ही अमेरिकी विदेश मंत्री ने चीन को मसूद का समर्थन देने पर उसे लताड़ लगाई.

अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन द्वारा इस प्रस्ताव के ड्राफ्ट को आगे बढा़या जा रहा है. मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव UNSC के सभी 15 सदस्यों को दिया गया है और इस पर सहमति बनाने की कोशिश की जा रही है. अच्छी बात ये है कि अगर इन सभी देशों ने इस प्रस्ताव पर सहमति दे दी, तो मसूद अज़हर के खिलाफ ट्रैवल बैन, संपत्ति सीज़ जैसी कार्रवाई की जा सकती है.

इसके साथ ही अमेरिकी मंत्री ने ट्वीट कर चाइन को लताड़ लगाते हुए लिखा, "एक तरफ चीन अपने देश में मुस्लिमों को प्रताड़ित कर रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ एक इस्लामिक आतंकी संगठन की संयुक्त राष्ट्र में रक्षा कर रहा है."

मालूम हो कि अजहर मसूद पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी लेने वाले आतंकी संगठन जैश के मोहम्मद का मुखिया है. इस हमले के बाद भारत के समर्थन में दुनियाभर के लोग सामने आए. अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव लाया गया था, लेकिन चीन अजहर का ढाल बन गया और इस कारण उसे वैश्विक आतंकी घोषित करने में भारत असफल रहा.

मालूम हो कि चीन यूएनएससी का स्थायी सदस्य है, इसी वजह से इसका वीटो पावर काफी अहम माना जाता है. पिछले चार बार से अमेरिका वीटो पावर का इस्तेमाल कर अजहर को वैश्विक आंतकी घोषित करने की कोशिश को नाकाम कर रहा है. 

एक ही अस्पताल की नौ नर्स एक साथ हुईं प्रेग्नेंट, जुलाई तक देंगी बच्चों को जन्म

First published: 28 March 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी