Home » इंटरनेशनल » American Girl Kaitlin Bennett founder right wing group liberty hang out gun loving
 

कॉलेज के दीक्षांत समारोह में गन लटकाकर पहुंची इस छात्रा ने छेड़ दी अमेरिका में बड़ी बहस

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 May 2018, 11:56 IST

पढ़ाई खत्म होने के बाद कॉलेज में होने वाले दीक्षांत समारोह में हर स्टूडेंट्स खास अंदाज में शामिल होना चाहता है. हर कोई एक दूसरे से अलग दिखना चाहता है, लेकिन अमेरिका में एक लड़की यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में ऐसे पहुंची जिसे देखने वाले देखते ही रह गए. दरअसल, 22 साल की कैटलिन बेनेट यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में राइफल टांग कर पहुंची.

बता दें कि कैटलिन ने हाल ही में अपना ग्रेजुएशन पूरा किया है. वह अमेरिका के ओहायो की कैंट स्टेट यूनिवर्सिटी की छात्रा थीं. कैटलिन जब दीक्षांत समारोह में डिग्री लेने पहुंची तो उन्होंने अपने कंधे पर एआर-10 सेमी-ऑटोमेटिक राइफल टांग रखी थी. साथ ही उसके हाथ में जो ग्रेजुएशन कैप था, जिस पर लिखा था, "आओ और छीन लो". कैटलिन की इस तस्वीर ने पूरे अमरीका में व्यक्तिगत स्वतंत्रता, छात्र प्रदर्शन और श्वेत विशेषाधिकार को लेकर बहस छिड़ गई है.

बेनेट ने दीक्षांत समारोह में राइफल लेकर जाने वाली अपनी तस्वीर को अपने ट्विटर अकाउंट पर भी शेयर किया है. उन्होंने तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है कि, "वो यूनिवर्सिटी की उस नीति का विरोध कर रही थीं, जो छात्रों, प्रोफेसरों और कर्मचारियों को कैंपस में 'जानलेवा हथियार' लाने से रोकती है. लेकिन यही नीति 'मेहमानों' को स्कूल ग्राउंड (लेकिन बिल्डिंग में नहीं) हथियार लाने की अनुमति देती है.”

साथ ही बेनेट ने ध्यान दिलाया है कि कैंट स्टेट वही जगह है जहां "चार निहत्थे छात्रों की सरकार ने गोली मारकर हत्या कर दी थी." ये घटना 1970 की बताई जाती है, जब सैनिकों और वियतनाम वॉर प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें हुई थीं. इस दौरान 13 प्रदर्शनकारियों और नजदीक खड़े लोगों को गोली मारी गई थी.

बता दें कि बेनेट के इस ट्वीट को खूब पसंद किया जा रहा है. वहीं घटना के बाद बेनेट ने अपनी बात सोशल मीडिया और इंटरव्यूज के जरिए बात रखी है. उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि वो "अपनी रक्षा, मेरा अधिकार" मुद्दे की बात कर रही थीं. बता दें कि बेनेट का एआर-10 राइफल लेकर आना अमेरिका में चर्चा का विषय बन गया है क्योंकि इस राइफल को सबसे ताकतवर वर्जन माना जाता है. वहीं कुछ दिन पहले पार्कलैंड और द न्यूटाउन एलिमेंट्री स्कूल में बड़े पैमाने पर हुई शूटिंग में इसी राइफल का इस्तेमाल किया गया था.

वहीं बेनेट का कहना है कि वो ये राइफल इसलिए लेकर आईं क्योंकि ये उनकी सफेद ड्रेस और हील्स से मैच करती थी. बता दें कि अमेरिका में मिलिट्री मशीन गन जैसे ऑटोमैटिक हथियारों पर पहले से प्रतिबंध लगा हुआ है. लेकिन बेनेट का मानना है कि मशीन गन्स को भी इस्तेमाल करने की कानूनी मान्यता मिलनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- गुजरात: अफसर ने खुद को बताया विष्णु का कल्कि अवतार, बारिश के लिए अपनी तपस्या को दिया क्रेडिट

First published: 19 May 2018, 11:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी