Home » इंटरनेशनल » Amit Jani: Indian youth who played biggest role in making Biden President
 

अमित जानी : भारतीय युवा जिसने बाइडेन को राष्ट्रपति बनाने में निभाई सबसे बड़ी भूमिका

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2020, 12:12 IST

अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) की जीत में एक भारतीय-अमेरिकी युवा की महत्वपूर्ण भूमिका रही है. न्यू जर्सी के 30 वर्षीय युवा अमित जानी ने 3 नवंबर के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से पहले बाइडेन अभियान के लिए भारतीय-अमेरिकी और एशियाई-अमेरिकी समुदाय को संगठित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. अमित जानी ने Asian American and Pacific Islander (AAPI) के निदेशक के रूप में बाइडेन अभियान के लिए काम किया. AAPI समुदाय में 50 से अधिक जातीयताएं और सैकड़ों भाषाएं बोलने वाले लोग हैं.

जानी प्राथमिक सत्र (primary season) के शुरुआती समय में बाइडेन अभियान में शामिल हो गए थे, उस वक्त एक दर्जन से अधिक प्रतियोगी राष्ट्रपति के लिए थे. बाइडेन अभियान में शामिल होने के बाद से जानी ने कई स्तर पर काम किया. उन्होंने राजनीतिक अभियान में एक राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा बनाया. जानी ने मीडिया में डिजिटल विज्ञापन छह भारतीय भाषाओं सहित 20 AAPI भाषाओं में पेश किये. उन्होंने 300 से अधिक सक्रिय सदस्यों का एक स्वयंसेवी संगठन बनाया.


जानी ने AAPI और भारतीय अमेरिकी समुदाय दोनों के लिए नीतिगत प्लेटफार्मों को तैयार करने में मदद की, सैकड़ों इवेंट्स को आयोजित किये. यही नहीं उन्होंने कई भाषाओं में अनुवादित सामग्री को प्रचार में इस्तेमाल किया. अमित जानी ने दक्षिण एशियाई लोगों को बाइडेन के पक्ष में बनाने के लिए कई समूहों जैसे इंडियन अमेरिकन फॉर बाइडेन, हिंदू अमेरिकन फॉर बाइडेन, सिख अमेरिकन फॉर बाइडेन, जैन अमेरिकन फॉर बाइडेन का गठन किया.

15 अगस्त को भारतीय स्वतंत्रता दिवस के दौरान उन्होंने व्यापक रूप से देखे गए वर्चुअल कार्यक्रम को आयोजित करने में मदद की. यूएस-इंडिया बिज़नेस काउंसिल की अध्यक्ष और दक्षिण और मध्य एशिया की पूर्व सहायक सचिव निशा बिस्वाल ने चुनाव से पहले एक वीडियो में कहा था "मुझे लगता है कि हम रिकॉर्ड मतदान करने जा रहे हैं और यह उस अविश्वसनीय प्रयास के कारण है जो (अमित) और (उनकी) टीम ने किया है. उन्होंने (संयुक्त राज्य अमेरिका में समुदाय को बड़ी संख्या में प्रेरित किया है.“

कौन हैं अमित जानी

30 साल की उम्र में पेशे से वकील अमित जानी डेमोक्रेक्टिक राजनीति और सरकार में एक दशक से अधिक समय से काम कर रहे हैं. बाइडेन अभियान में शामिल होने से पहले उन्होंने न्यू जर्सी के गवर्नर फिल मर्फी के प्रशासन के लिए काम किया. उन्होंने गवर्नर मर्फी के अभियान और न्यू जर्सी डेमोक्रेटिक स्टेट कमेटी के लिए AAPI निदेशक के रूप में भी कार्य किया है. 

जानी को जानने वाले लोग उन्हें एक अथक और मेहनती व्यक्ति के रूप में वर्णित करते हैं. जानी राजकोट (गुजरात) में जन्मे और अपनी मां के साथ एक साल की आयु में अमेरिका पहुंचे. जानी ने अपना पूरा जीवन न्यू जर्सी में बिताया है, जहां अमेरिका में सबसे बड़ी भारतीय आबादी है. उनके दिवंगत पिता, सुरेश जानी, न्यू जर्सी और पूरे अमेरिका में एक सामुदायिक आयोजक थे, जो अक्सर नए प्रवासियों की वकालत करते थे. जानी और माता दीप्ति जानी, न्यू जर्सी और न्यूयॉर्क में व्यवसायी हैं.

2015 में, जानी ने न्यू जर्सी लीडरशिप प्रोग्राम (NJLP) की स्थापना की, जो एक गैर-लाभकारी संगठन है, संगठन दक्षिण एशियाई हाई स्कूल और कॉलेज के छात्रों को स्थानीय, राज्य और संघीय सरकारों और निर्वाचित अधिकारियों के साथ काम करने का प्रत्यक्ष अनुभव प्राप्त करने में मदद करता है. एनजेएलपी वेबसाइट के अनुसार, जानी ने दक्षिण एशियाई अमेरिकी समुदाय को आवाज देने के लिए संगठन की स्थापना की है.

Coronavirus Update: दुनियाभर में पिछले 24 घंटों में आए छह लाख से ज्यादा नए मामले, 10 हजार से अधिक लोगों की गई जान

 

First published: 12 November 2020, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी