Home » इंटरनेशनल » Antigua PM Gaston Browne on Mehul Choksi he is a crook ultimately he will be deported to India
 

मोदी सरकार कसेगी मेहुल चोकसी पर शिकंजा, एंटीगा और बारबुड़ा के पीएम ने कही ये बड़ी बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2019, 10:12 IST

पीएनबी धोखाधड़ी के आरोपी मेहुल चोकसी पर मोदी सरकार जल्द ही शिकंजा कसेगी. दरअसल, एंटीगा और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा है कि मेहुल चोकसी धोखेबाज है. संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में शामिल होने न्यूयॉर्क पहुंचे गैस्टन ने कहा कि उन्हें चोकसी की करतूतों के बारे में बहुत जानकारियां मिली हैं.

उन्होंने कहा कि मुझे पर्याप्त जानकारी मिली है कि मेहुल चोकसी एक धोखेबाज है. उसका मामला अदालत के पास है. उन्होंने कहा कि अभी तो हम कुछ नहीं कर सकते, लेकिन इतना कहना चाहता हूं कि हमारा मेहुल चोकसी को एंटिगा और बारबुडा में रखने का इरादा नहीं है.

वहीं एंटीगा में मेहुल चोकसी से भारतीय अधिकारियों के सवाल पूछने के सवाल पर उन्होंने कहा कि, वह भारतीय अधिकारियों को मेहुल चोकसी से पूछताछ की अनुमति देंगे. जिस पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं है. ब्राउन ने कहा कि भारतीय अधिकारी जब चाहें आकर पूछताछ कर सकते हैं, बशर्ते चोकसी भी पूछताछ में शामिल होना चाहता हो. ब्राउन ने कहा कि इस केस में अभी उनकी सरकार कुछ नहीं कर सकती है क्योंकि मामला अदालत में है.

मेहुल चोकसी के भारत प्रत्यर्पण के बारे में ब्राउन ने ये नहीं बताया कि चोकसी को कब तक भारत वापस भेजा जाएगा. उन्होंने कहा कि अभी ये मामला न्यायालय में है. हालांकि ब्राउन के इन बयानों से मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण की संभावनाओं को बल जरूर मिला है. गौरतलब है कि हाल ही में गैस्टन ब्राउन ने मेहुल चोकसी की नागरिकता को रद्द करने का ऐलान किया था.

ब्राउन ने ये कदम भारत के दवाब में उठाया था. पीएनबी घोटाले के तहत नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर 13 हजार करोड़ रुपये के गबन का आरोप है. ये मामला साल 2018 में सामने आया था. उसके बाद मेहुल चोकसी और नीरव मोदी देश छोड़कर भाग गए. नीरव मोदी लंदन में रह रहा है वहीं मेहुल चोकसी ने एंटीगा में शरण ली है. उसके बाद चोकसी को 15 जनवरी, 2018 को एंटिगा और बारबूडा की नागरिकता मिल गई.

राकेश अस्थाना की जांच कर रहे CBI अफसर ने मांगी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

First published: 26 September 2019, 10:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी