Home » इंटरनेशनल » Australian Forest Fire case filed against 183 people for setting fire
 

Australia Fires : ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में आग लगाने पर बोले आरोपी, देखकर लगता है अच्छा

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 January 2020, 13:12 IST

Australian Forest Fire : ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में हाल ही में भयंकर आग लगी. जिसमें करोड़ों जीव-जन्तु जलकर मर गए. बताया जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया (Australia) के जंगलों (Forest) में ये आग जानबूझ कर लगाई गई थी, जिसके आरोप में पुलिस ने कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. गिरफ्तार किए गए लोगों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने आग लगाने की जो वजह बताई वो सबको चौंकाने वाली थी.

दरअसल, स्विनबर्न यूनिवर्सिटी में फॉरेंसिक बिहेवियरल साइंस के निदेशक जेम्स ओग्लॉफ के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया में लगभग 50 प्रतिशत आग जानबूझ कर लगाई गई. उन्होंने न्यूज कॉर्प को बताया, "उन्हें आग देखना अच्छा लगता है, आग लगाना अच्छा लगता है और वे अक्सर यह जानकारी देते हैं कि जंगल कैसे जलता है और आग को कैसे भड़काया जाता है."


वहीं मेलबर्न यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर एसोसिएट प्रोफेसर जेनेट स्टेनली का कहना है कि आगजनी करने वाले या आग लगाने वाले आम तौर पर युवा लड़के हैं जो 12 से 24 साल के बीच के हैं या 60 साल या इससे भी बुजुर्ग. एक पूर्व स्वयंसेवी दमकल कर्मी ब्रेंडन सोकालुक को 2009 में विक्टोरिया में आग लगाने के मामले में 17 साल नौ महीने की जेल की सजा सुनाई थी. इसे ऑस्ट्रेलिया के सबसे घातक अग्निकांडों में से एक माना जाता है. जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई थी.

बता दें कि एनएसडब्ल्यू में पिछले साल नवंबर के बाद 183 लोगों पर केस दर्ज किया गया था, या उन्हें चेतावनी दी गई थी. साथ ही जानबूझ कर जंगलों में आग लगाने के मामले में 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. वहीं विक्टोरिया में 43 लोगों पर मामला दर्ज किया गया था. इस मामले में क्वींसलैंड में 101 लोगों को गिरफ्तार किया गया, इनमें से करीब 70 प्रतिशत लोग नाबालिग थे.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग की लपटें अब ब्राजील तक पहुंच गई हैं, नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस रिसर्च ने ट्विटर पर ये जानकारी दी है. सेटेलाइट तस्वीरों का जिक्र करते हुए, एजेंसी के रिमोट सेंसिंग विभाग ने कहा है कि मंगलवार को ब्राजील के सबसे दक्षिणी राज्य रियो ग्रांड डो सुल में धुआं आ गया था.

पिछले साल सितंबर से जंगलों में लगी आग से अबतक 25 लोग मारे जा चुके हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के एक न्यूज पेपर ने कहा कि इन लोगों को सबसे ज्यादा प्रभावित प्रांतों न्यू साउथ वेल्स (NSW), क्वींसलैंड, विक्टोरिया, साउथ ऑस्ट्रेलिया और तस्मानिया से गिरफ्तार किया गया है.

अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल हमले के बाद ईरान का दावा, 80 लोगों की मार गिराया

Ukraine Plane Crash : ईरान-अमेरिका तनाव के बीच तेहरान में यूक्रेन का प्लेन क्रैश, विमान में 180 यात्री सवार

ईरान ने इराक में अमेरिकी सैन्य बेस पर किया हमला, दर्जनभर से ज्यादा मिसाइलें दागी

First published: 8 January 2020, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी