Home » इंटरनेशनल » After India Bangladesh is also unable to participate in the proposed 19th SAARC Summit in Islamabad
 

सार्क में अलग-थलग पाकिस्तान: बांग्लादेश, अफगानिस्तान, भूटान भी करेंगे समिट का बहिष्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2016, 9:15 IST

सार्क समिट से ठीक पहले पाकिस्तान को बड़ा झटका देते हुए भारत ने इस्लामाबाद में नवंबर में होने वाली बैठक का बहिष्कार करने का फैसला लिया. वहीं पाकिस्तान सार्क में अब अलग-थलग पड़ता नजर आ रहा है.

खबर है कि बांग्लादेश भी नवंबर में होने वाली इस समिट में हिस्सा नहीं लेगा. सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है बदले हुए माहौल में बांग्लादेश पाकिस्तान में होने वाली दक्षिण एशियाई सहयोग संगठन की 19वीं बैठक में हिस्सा नहीं लेगा.

वहीं सूत्रों के हवाले से यह भी खबर है कि भूटान ने भी अपनी चिंताएं जाहिर करते हुए वर्तमान हालात में सार्क समिट में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया है.

इस्लामाबाद सार्क समिट पर संकट

सार्क सम्मेलन नवंबर में पाकिस्तान के इस्लामाबाद में प्रस्तावित है. सूत्रों के मुताबिक बांग्लादेश के साथ ही अफगानिस्तान और भूटान भी इस समिट में हिस्सा नहीं लेंगे.

भारत ने वर्तमान में सार्क की अध्यक्षता कर रहे नेपाल से कहा है कि एक देश ने ऐसा माहौल बना दिया है जो शिखर सम्मेलन के लिए हितकारी नहीं है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने मंगलवार को ट्वीट करते हुए कहा था कि क्षेत्रीय सहयोग और आतंक एक साथ नहीं चल सकते. उरी आतंकी हमले के बाद भारत ने यह बड़ा फैसला लिया है.

पहली बार भारत नहीं लेगा हिस्सा

सार्क के इतिहास में 1985 के बाद यह पहली बार होगा कि भारत सम्मेलन का बहिष्कार करेगा. 9-10 नवबंर को 19वीं समिट इस्लामाबाद में होनी है.

भारत ने सम्मेलन का बायकॉट करते हुए सार्क के सदस्य देशों को संबोधित करते हुए सम्मेलन में ना जाने का फैसला किया है. इसके लिए पाक प्रायोजित आतंकवाद को जिम्मेदार ठहराया गया है.

इस बीच पाकिस्तान ने सार्क शिखर सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेने के भारत के फैसले को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया है. पाकिस्तानी विदेश विभाग के एक प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान ने भारतीय प्रवक्ता के उस ट्वीट का संज्ञान लिया है, जिसमें भारत ने यहां आयोजित होने वाले 19वें शिखर सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेने का एलान किया है.

प्रवक्ता ने कहा, "हमें इस संदर्भ में कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है, लेकिन भारत की घोषणा दुर्भाग्यपूर्ण है."

First published: 28 September 2016, 9:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी