Home » इंटरनेशनल » bangladesh: jamaat-e-islami motiur rahman nizami hang
 

1971 के युद्ध अपराधी रहमान निजामी को बांग्लादेश में फांसी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

बांग्लादेश में कट्टरपंथी संगठन जमात-ए-इस्लामी के प्रमुख मोतीउर रहमान निजामी को मंगलवार रात फांसी दे दी गई. इससे पहले निजामी ने 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान किए युद्ध अपराधों को लेकर राष्ट्रपति से दया याचिका करने से इनकार कर दिया था.

इस मामले में गृह मंत्री असदुज्जमान खान ने बताया कि निजामी ने रहम की मांग नहीं की. फांसी दिए जाने का कार्यकारी आदेश जेल अधिकारियों को भेज दिया गया है.

ढाका जेल में फांसी


73 साल के निजामी को फांसी पर लटकाए जाने से पहले उनकी पत्नी और परिवार के सदस्यों से मिलने की इजाजत दी गई. इसके बाद मध्यरात्रि 12 बजे निजामी को ढाका सेंट्रल जेल में फांसी पर लटका दिया गया.

एक विशेष न्यायाधिकरण ने 1971 में कुख्यात अल बद्र मिलीशिया बल के प्रमुख के तौर पर उच्चतम जिम्मेदारियां निभाने को लेकर बांग्लादेश की सबसे बड़ी इस्लामी पार्टी के प्रमुख निजामी को अक्तूबर 2014 में फांसी की सजा सुनाई थी. 

450 से ज्यादा की हत्या में दोषी


निजामी को खास तौर पर अपने ही गांव में 450 से ज्यादा लोगों की हत्या करने का दोषी पाया गया था. फांसी के खिलाफ उनकी आखिरी अपील पांच मई को शीर्ष न्यायालय ने खारिज कर दी थी.

वह पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया की बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) के नेतृत्व वाली चार दलीय गठबंधन सरकार में मंत्री भी रहे थे. निजामी 2010 से जेल में कैद थे.

First published: 11 May 2016, 10:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी