Home » इंटरनेशनल » Bangladeshi professor killed in suspected Islamist attack
 

बांग्लादेश: प्रोफेसर की गला रेतकर हत्या, आईएसआईएस पर शक

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

बांग्लादेश में बुद्धिजीवियों और कार्यकर्ताओं पर चरमपंथी हमलों के मामले बढ़ते जा रहे हैं. इस बार एक प्रोफेसर को निशाना बनाया गया है.

बताया जा रहा है कि बांग्लादेश के पश्चिमी इलाके में अज्ञात हमलावरों ने एक प्रोफेसर की गला रेतकर हत्या कर दी. 58 साल के प्रोफेसर की हत्या में धारदार हथियार का इस्तेमाल किया गया.

आईएसआईएस का हाथ !

स्थानीय पुलिस के मुताबिक राजशाही शहर में यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर एएफएम रेजौल करीम सिद्दीकी की उनके घर से करीब 50 मीटर दूर हत्या कर दी गई.

पुलिस के मुताबिक प्रोफेसर के गले को तीन बार काटा गया है. हत्या के पीछे आतंकी संगठन आईएसआईएस के हाथ होने का शक है.

पढ़ें:बांग्लादेश में इस्लामी चरमपंथियों ने हिंदू पुजारी की हत्या की

प्रोफेसर रेजौल राजशाही यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी के प्रोफेसर थे. वो सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी काफी सक्रिय रहते थे.

बांग्लादेश की एक वेबसाइट ने पुलिस अधिकारी सादात हुसैन के हवाले से बताया है कि सुबह करीब साढे़ सात बजे अज्ञात हमलावरों ने प्रोफेसर पर धारदार हथियारों से लगातार वार किया.

इसके बाद हत्यारे उन्हें सालबागान इलाके में बट्टाला क्रॉसिंग पर फेंककर फरार हो गए. हत्या की वजह का अभी तक पता नहीं चल पाया है.

अल्पसंख्यकों-ब्लॉगरों पर बढ़े हमले

इससे पहले राजशाही यूनिवर्सिटी के एक और प्रोफेसर एकेएम सैफिउल इस्लाम की दो साल पहले हत्या कर दी गई थी.

हालांकि शुरुआत में इस्लामी कट्टरपंथियों ने उनकी हत्या करने का दावा किया था, लेकिन बाद में पुलिस ने इस संभावना से इनकार कर दिया था. पुलिस ने कहा था कि उनकी हत्या निजी रंजिश के चलते हुई थी.

पढ़ें: बांग्लादेश: इस्लामिक कट्टरपंथियों ने एक और उदारवादी की हत्या की

हाल के दिनों में बांग्लादेश में धर्मनिरपेक्ष और उदारवादी विचारधारा वाले ब्लॉगर्स और कार्यकर्ताओं पर हमलों के मामले बढ़े हैं. पिछले साल भी चार प्रमुख धर्मनिरपेक्ष ब्लॉगरों की हत्या कर दी गई थी.

First published: 23 April 2016, 5:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी