Home » इंटरनेशनल » Barack Obama: We stand with the people of Orlando, enough to say that this was act of terror and hate
 

बराक ओबामा: ये अमेरिका पर आतंकी हमला है

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 June 2016, 12:55 IST

अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत के ओरलैंडो में एक गे नाइट क्लब में हुई अंधाधुंध फायरिंग को राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमेरिका पर हमला बताया है. ओबामा ने कहा कि ये एक आतंकी हमला है. हमलावर घृणा से भरा हुआ था.

ओबामा ने कहा कि पूरा अमेरिका इस हमले के खिलाफ एकजुट है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि कि जांच के बाद और तथ्य़ निकलकर सामने आएंगे. जांच एजेंसी एफबीआई इस पर काम रही है.

'भूल नहीं जाएंगे'

ओबामा ने कहा, " हमने अधिकारियों को बोल दिया है कि जिस भी तरह की जरूरत होगी, उनको उपलब्ध कराई जाए. हर मौत हमारे लिए दुखद है. हम इसको भूल नहीं जाएंगे.

पढ़ें: अमेरिका: फ्लोरिडा के गे नाइट क्लब में फायरिंग, 50 लोगों की मौत

ये घटना उस गे-लेस्बियन क्लब में हुई, जहां लोग दोस्तों के साथ मिलकर डांस करने और क्वालिटी टाइम बिताने आए थे. ये किसी दुस्वप्न से कम नहीं है. घटना में शहीद हुए लोगों के नाम और चेहरों को हम कभी नहीं भुला पाएंगे."

सबसे बड़ा शूटआउट

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि कुछ समय पहले फ्रांस में भी इस तरह की घटना हुई थी. अब वो आतंक का साया हमारे पास पहुंचा है. हम अमेरिका के लोग एक साथ मिलकर इस तरह की घटना का सामना करेंगे. ये हमला अमेरिका में नागरिक अधिकारों पर हनन जैसा है.

गौतलब है कि अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत के ओरलैंडो में उमर मतीन नाम के शख्स ने अंधाधुंध गोलियां बरसाकर 50 लोगों की हत्या कर दी थी. हमले में 53 लोग जख्मी बताए जा रहे हैं. मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है.

अमेरिकी इतिहास में यह सबसे बड़ा शूटआउट है. साथ ही इसे वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए 9/11 हमले के बाद सबसे बड़ा कत्ले-आम करार दिया जा रहा है.

'ऐसी घटनाएं कब रुकेंगी?'

इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं. ट्रंप ने कहा, "फ्लोरिडा में डरावनी घटना. मृतकों और उनके परिजनों के लिए प्रार्थना कर रहा हूं. ऐसी घटनाएं कब रुकेंगी? हम कब सख्त, चुस्त और सतर्क होंगे?"

ट्रंप ने ट्वीट करते हुए कहा, "कृपया हमें सुरक्षित रखें. हिलेरी को राष्ट्रपति बनाना ठीक नहीं होगा. हम बहुत ज्यादा मुश्किल में पड़ जाएंगे."

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, "ओरलैंडो में जो कुछ हुआ, वह तो बस शुरुआत है. हमारा नेतृत्व कमजोर और अप्रभावी है. मैं प्रतिबंध की मांग करता हूं. हमें सख्त कदम उठाने होंगे."

इस बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ओरलैंडो शूटआउट पर गहरा दुख जताया है. पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा है, "अमेरिका के ओरलैंडो में हुए शूटआउट पर स्तब्ध हूं. घटना में मारे गए लोगों के परिजनों और घायलों के लिए मैं प्रार्थना कर रहा हूं."

First published: 13 June 2016, 12:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी