Home » इंटरनेशनल » Bhutan denies Chinese village in its territory
 

क्या चीन ने भूटान में घुसकर कर लिया है उसकी जमीन पर कब्जा, राजदूत की तरफ से आया ये जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2020, 18:06 IST

भारत में भूटान के राजदूत ने उस सभी मीडिया रिपोर्ट को खारिज किया है जिसमें दावा किया गया था कि चीन भूटान की सीमा के दो किलोमीटर अंदर घुस आया है और उसने भूटान के क्षेत्र में निर्माण किया है.

भारत में भूटान के राजदूत वेतसोप नामग्याल ने द हिंदू से बात करते हुए भारत में भूटान के दूत वेतसोप नामग्याल ने साफ किया है कि भूटानी क्षेत्र के अंदर एक चीनी गांव के निर्माण की रिपोर्ट गलत है.


वेतसोप नामग्याल ने कहा,"भूटान के भीतर चीन का कोई गांव नहीं है. सैटेलाइट तस्वीरों में गतिरोध की जगह (डोकलाम) के पास कुछ सेटलमेंट दिख रहा है. ये गांव भूटान की ओर नहीं है." वेतसोप नामग्याल ने इस दौरान जोर देकर इस बात को कहा कि ये निर्माण 2017 में भारत और चीन के बीच विवाद का केंद्र रहे डोकलाम में है और वो भूटान की तरफ नहीं है.

बात दें, साल 2017 में भारत-चीन और भूटान डोकलाम में एक दूसरे के आमने सामने थे. इस दौरान दोनों देशों की सेनाएं 70 दिनों तक एक दूसरे के आमने सामने थी. इस जगह जहां तीनों देशों की सीमएं लगती थी, वहां पर चीन अवैध तरीक से निर्माण कर रहा था और इसलिए यह गतिरोध बना था.

न्यूज चैनल एनडीटीवी ने गुरूवार को यह दावा किया था कि चीन ने भूटान की सरजमी पर कब्जा करके वहां एक गांव बसाया है जिसका नाम उन्होंने पांगडा रखा था. रिपोर्ट की मानें तो इस गांव में चीन ने रहने के लिए मकान, साफ सड़के सहित वो तमाम चीजें उपलब्ध करवाई हुई थी, जो एक गांव के लिए जरूरी होता है.

60 साल में पहली बार इस देश के राष्ट्रपति को मिला व्हाइट हाउस में प्रवेश, चीन और अमेरिका में बढ़ सकता है तनाव

First published: 21 November 2020, 17:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी