Home » इंटरनेशनल » Big change in US immigration policy after Donald Trump being the president of America
 

डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद भारतीयों का अमेरिका में रहना हुआ मुश्किल

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 October 2018, 17:06 IST

डोनाल्ड ट्रंप के यूएस का राष्ट्रपति बनने के बाद भारतीयों का अमेरिका में रहना मुश्किल हो गया है. इसका कारण यह है कि ट्रंंप सरकार ने अपनी अप्रवासी नीति में बदलाव किया है. अमेरिका में पिछले दो साल में भारतीयों को मिलने वाले ग्रीन कार्ड की संख्या में भारी गिरावट आई है. आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल जिन 6 लाख भारतीयों ने ग्रीन कार्ड के लिए आवदेन किया था, उनमें मात्र 60,394 लोगों को ही ग्रीन कार्ड मिल पाया है.

अगर इन आंकड़ों को प्रतिशत के लिहाज से देखें तो यह 10.06 के आसपास बैठता है. बता दें कि दुनिया में ग्रीन कार्ड का काफी नाम है क्योंकि यह कार्ड जिनके पास होता है, उसे अमेरिका में रहने और काम करने का मौका मिलता है. पिछले साल 20,549 ऐसे भारतीयों को ग्रीन कार्ड दिया गया जिनका आवेदन पत्नी, संतान और माता-पिता की कैटेगरी में था. जबकि 14,962 ग्रीन कार्ड बहन-भाई की कैटेगरी में जारी किए गए.

अमेरिका में प्रवासी भारतीयों के संगठन की वेबसाइट GCReforms.org के अनुसार, 25 से 92 साल उम्र के भारतीयों को ग्रीन कार्ड के लिए इंतजार करना होगा. कहा जा रहा है कि ग्रीन कार्ड जारी करने की लिमिट समाप्त हो गई है. बता दें कि अप्रैल 2018 तक 6,32,219 भारतीय प्रवासी और उनके बीवी-बच्चे ग्रीन कार्ड के लिए प्रतीक्षारत थे.

 

वहीं 2017 में कुल 60,394 आवेदकों में से 23,569 लोगों को ग्रीन कार्ड जारी किया गया था. यह कार्ड एच-1बी वीजा की तरह रोजगार आधारित था. जब से अमेरिका में ट्रंप सरकार आई है तब से अप्रवासी नीति में बडा़ बदलाव किया गया है. इसके बाद से कुशल भारतीय-अमेरिकियों को भी ग्रीन कार्ड के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जबकि ये लोग एच1बी वीजा धारक हैं.

पढ़ें- 'PM मोदी को हराने के लिए पाकिस्तान में फेसबुक कैंपेन चला रही है कांग्रेस'

दरअसल, जब से नई अप्रवासी नीति आई है, तब से हर देश के लिए मात्र 7 प्रतिशत कोटा निर्धारित किया गया है. डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (डीएचएस) की एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले दो साल में ग्रीन कार्ड धारकों की संख्या घटी है. 2015 में 64,116 और 2017 में 64,687 भारतीयों को वैध स्थाई निवास के लिए ग्रीन कार्ड जारी किया गया.

First published: 19 October 2018, 17:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी