Home » इंटरनेशनल » Blacklist fear forces Pakistan to shut 20 terror camps in PoK
 

PoK में इस डर से पाकिस्तान ने बंद करवाए 20 आतंकी कैंप

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2019, 9:08 IST

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) द्वारा ब्लैकलिस्ट किए जाने के डर ने पाकिस्तान को इस साल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के अंदर 20 आतंकी शिविरों को बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इससे पहले एफएटीएफ ने पाकिस्तान को ग्रे- लिस्ट में डाल दिया था. पाकिस्तान को डर है कि उसपर आर्थिक प्रतिबन्ध भी लग सकता है.

सरकारी आंकड़ों से पता चलता है कि इस गर्मी में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ और सीमा पार कार्रवाई की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है. द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार खुफिया सूत्रों ने बताया कि जानकारी मिली है कि 20 आतंकी शिविरों को पाकिस्तान ने बंद करने का सुझाव दिया है. एजेंसियां कहती ताहि है कि पाकिस्तान उन्ही शिविरों से कश्मीर में आतंकी भेजता रहा है. इससे पहले जून में अमेरिका में एफएटीएफ की बैठक से पहले पाकिस्तान की ग्रे-लिस्ट में डाल दिया गया था.

 

LoC के पार पाकिस्तान द्वारा चलाये जा रहे कुल 28 लॉन्च पैड की पहचान की गई है. सूत्रों ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम उल्लंघन की तीव्रता भी पाकिस्तान की ओर से गतिविधि की बदली हुई स्थिति की ओर इशारा करती है.

सूत्रों ने दावा किया कि पाकिस्तान एलओसी के किनारे डी-एस्केलेशन चाहता है और यह उन हथियारों के कैलिबर में परिलक्षित होता है जो युद्धविराम उल्लंघन में इस्तेमाल किए जा रहे हैं. इस साल कश्मीर में 71 लोग मारे गए मृतकों में से 15 सेना के जवान हैं, CAPF के 48 और आठ जम्मू-कश्मीर के पुलिसकर्मी हैं.

पाकिस्तान को हवाई क्षेत्र बंद करने से हुआ तगड़ा नुकसान, इतने अरब की लगी चपत 

First published: 20 July 2019, 9:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी