Home » इंटरनेशनल » Botswana government requested the Election Commission to demonstrate and depose in favour of EVMs in its cour
 

इस देश की सरकार करना चाहती थी भारतीय EVM से चुनाव, विपक्ष ने उठाये ये सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2018, 12:59 IST

बोत्सवाना की सरकार ने दो महीने पहले भारत के चुनाव आयोग से ईवीएम मांगी थी क्योंकि बोत्सवाना की अदालत में भारतीय ईवीएम का टेस्ट होना था. इसके लिए भारत से ईवीएम मांगी गई थी लेकिन भारत के चुनाव आयोग ने इससे यह कहकर इंकार कर दिया है कि भारत को 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए ईवीएम की जरूरत है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भारत का चुनाव आयोग पहले ईवीएम देने को तैयार था. दरअसल बोत्सवाना में विपक्ष ने इसपर हंगामा किया था और कहा था कि सरकार इन ईवीएम से चुनाव करवाकर धांधली करना चाहती है. इसके बाद अदालत इस मुद्दे को लेकर अदालत पहुंची थी.

दरअसल भारत में ईवीएम को लेकर हुए विवाद के कारण वहां के विपक्ष ने ये सवाल उठाये थे. इसको लेकर पूरे देश में बहस चल रही थी लेकिन भारत से ईवीएम न मिलने के कारण यह नहीं हो पाया. 

अदालत ने आदेश दिया था कि अदालत के अंदर इसका टेस्ट किया जाए. परिणामस्वरुप अब देश में बैलेट पेपर से चुनाव हो सकते हैं. हालांकि खबर यह भी है कि भारत का चुनाव आयोग बोत्सवाना के अनुरोध पर विचार कर रहा है. एक ईवीएम को उस देश के लिए डिजाइन की जा रहा है.

एक वरिष्ठ ईसी अधिकारी ने कहा कि "एक बार हमारे ईवीएम तैयार हो जाने के बाद हम बोत्सवाना के अनुरोध पर विचार कर सकते हैं और निर्माताओं से उनके चुनावों के लिए एक नया और अलग ईवीएम तैयार करने के लिए कह सकते हैं. हमने पहले नेपाल और नाइजीरिया की मदद की है."

ये भी पढ़ें : पाकिस्तान: नए PM इमरान के लिए ये होगी सबसे बड़ी चुनौती

First published: 3 August 2018, 12:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी