Home » इंटरनेशनल » Brazil: 27 die in latest prison riot
 

ब्राजील की जेल में फिर खूनी संघर्ष, 27 की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2017, 13:42 IST
(एएफपी)

ब्राजील की जेल में कैदियों के बीच खूनी संघर्ष थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस बार उत्तरी ब्राजील की एक जेल में दो परस्पर विरोधी गिरोहों के बीच ताजा लड़ाई में 27 कैदियों के मारे जाने की खबर है. मरने वालों में से ज्यादातर कैदियों के सिर काट दिए गए हैं. इस साल ब्राजील की जेलों में 5 बार बड़े दंगे हो चुके हैं, जिनमें करीब 100 कैदी मारे गए.  

यह खूनी संघर्ष शनिवार की रात ब्राजील के उत्तर-पूर्वी राज्य रियो ग्रांदे दो नोर्ते की अलकाउज जेल में शुरू हुआ. जनवरी की शुरुआत में अन्य जेलों में भी इसी तरह का खूनी संघर्ष भड़क उठा था, जिसमें 100 कैदी मारे गए थे.

राज्य के सार्वजनिक सुरक्षा प्रबंधक काहियो बेजेरा ने एक संवाददाता सम्मेलन में 27 कैदियों के मारे जाने की पुष्टि की है. स्थानीय प्रशासन के मुताबिक, सुरक्षा बलों ने हिंसा के 14 घंटे बाद रविवार की सुबह जेल में प्रवेश किया और व्यवस्था बहाल की गई. अधिकारियों का कहना है कि जेल के विभिन्न हिस्सों से आकर मादक पदार्थों के दो गिरोहों के सदस्य आपस में भिड़ गए.

ब्राजील के मीडिया के मुताबिक, माना जा रहा है कि जेल में यह हिंसा ब्राजील के सबसे बड़े मादक पदार्थ गिरोह, द फर्स्ट कैपिटल कमांड (पीसीसी) और इसके मुख्य प्रतिद्वंद्वी के सहयोगी गिरोह रेड कमांड के बीच हुई.

इस बीच दक्षिणी राज्य पराना के अधिकारियों ने बताया कि क्यूरितिबा शहर में स्थित एक जेल में कैदियों ने विस्फोट कर दीवार उड़ाई और पुलिस पर गोलीबारी की जिसके बाद 28 कैदी भाग गए.

एएफपी

इससे पहले 2 जनवरी को मनाउस में अनिसियो जेल में भड़की हिंसा में 56 कैदी और 4 जेल अफसरों की जान चली गई. इसके बाद 6 जनवरी को रोरेमा में भी जेल में दंगे हुए थे, जिसमें 33 कैदियों की मौत हो गई थी.

इस घटना के दो दिन बाद 8 तारीख को मनाउस की जेल में दंगा भड़कने से 4 कैदियों की जान चली गई. वहीं 10 जनवरी को बोआ विस्टा की जेल में कैदियों के बीच हिंसा हुई थी, जिसमें 30 की मौत हो गई थी और दर्जनों जख्मी हुए थे.

गौरतलब है कि ब्राजील की जेलों में क्षमता से अधिक कैदी बंद हैं और यहां अक्सर हिंसक वारदातें होती रहती हैं. न्याय मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 के अंत तक ब्राजील की जेलों में 6,22,000 कैदी बंद थे. इनमें से अधिकांश अश्वेत पुरुष थे. कैदियों की संख्या के मामले में ब्राजील अमेरिका, चीन और रूस के बाद चौथा सबसे बड़ा देश है. 

First published: 16 January 2017, 13:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी