Home » इंटरनेशनल » Brazil rejects G7 aid to fight amazonn fires according to AFP News Agency
 

अमेजन के जंगल में लगी आग बुझाने के लिए G-7 से मिली आर्थिक मदद लेने से ब्राजील का इनकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2019, 10:11 IST

अमेजन के जंगल में लगी आग दुनिया के लिए खतरे का संकेत है. ऐसे में दुनियाभर की नजरें इसे बुझाने पर लगी हैं. लेकिन इसी बीच ब्राजील ने तानाशाही दिखाना शुरु कर दिया है. दरअसल, G-7 में शामिल देशों ने अमेजन की आग बुझाने के लिए आर्थिक मदद की पेशकश की थी, जिसे लेने से ब्राजील ने इनकार कर दिया.

एएफपी न्यूज एजेंसी ने इस बारे में जानकारी दी है.फ्रांस में आयोजित G-7 सम्मेलन के सभी देश अमेजन के जंगलों में लगी आग पर 30 लाख यूरो यानी करीब 22 लाख अमेरिकी डॉलर या करीब 158 करोड़ रुपये खर्च करने पर सहमत हो गए थे. लेकिन ब्राजील ने ये रकम लेने से मना कर दिया. जिसे ब्राजील का तानाशाही भरा कदम माना जा रहा है.

इस रकम को मुख्य रूप से वहां के जंगलों में लगी भीषण आग को बुझाने के लिए अग्निशमन हेलीकॉप्टरों पर खर्च की जाने की बात कही गई थीफ्रांस और चिली के राष्ट्रपति ने सोमवार को इसकी घोषणा बिआरित्ज के रिसॉर्ट में की थी, जहां पर्यावरण मुद्दे विशेषकर अमेजन में आग के दुष्परिणामों पर चर्चा हुई.

जी-7 से जुड़े देश ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और अमेरिका मध्यम अवधि के लिए वन क्षेत्र बढ़ाने की योजना के लिए भी तैयार हो गए हैं. इसकी जानकारी फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रान और चिली के सेबेस्टियन पिनेरा ने दक्षिण-पश्चिम फ्रांस में जी-7 शिखर सम्मेलन में दी थी. ब्राजील भी स्थानीय समुदाय के साथ पौधे लगाने के लिए राजी हो गया.

फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने अमेजन में आग के मुद्दे को इस दौरान प्रमुखता से उठाया. बता दें कि ब्राजील में इस साल ही वन क्षेत्र में आग लगने की करीब 80 हजार घटनाएं हो चुकी हैं. लेकिन आग बुझाने के पर्याप्त कदम नहीं उठाए गए हैं. लेकिन अंतरराष्ट्रीय समुदाय के दबाव के बाद दो सी-130 हरक्यूलिस विमानों को आग बुझाने के लिए तैनात किया गया है.

बता दें कि ब्राजील के राष्ट्रपति जाइर बोल्सोनारो विपक्षियों और सहयोगियों का मजाक उड़ाने से लेकर महिलाओं, अश्वेतों और समलैंगिकों के खिलाफ अपमानजनक टिपप्णी करते रहे हैं. यही नहीं उन्होंने 1964-1985 के बीच देश में रही तानाशाही सत्ता की तारीफ की थी, लेकिन वैश्विक मंच पर पहली बार उनकी आलोचना की गई. अमेजन के जंगलों में लगी आग इसकी सबसे बड़ी वजह रही.

ब्राजील के राष्ट्रपति की आलोचना करते हुए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने कहा कि जाइर बोल्सोनारो पश्चिमी देशों और अपने देश के मामलों में दखल देने के साथ-साथ फ्रांसीसी नेता की 66 साल की पत्नी का फेसबुक पर मजाक उड़ा चुके हैं जो बेहद दुखद है. मैक्रों ने कहा कि ये ना केवल उनके लिए दुखद है बल्कि ब्राजील के निवासियों के लिए भी बुरा है.

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने ब्राजील के राष्ट्रपति पर पश्चिमी देशों और अपने देश के मामलों में दखल देने और फ्रांसीसी नेता की 66 वर्षीय पत्नी का फेसबुक पर मजाक उड़ाने का आरोप लगाते हुए कहा कि यह दुखद है, यह उनके लिए और ब्राजील के लोगों के लिए दुखद है.

दुनिया को भारत की ताकत दिखाकर स्वदेश लौटे पीएम मोदी, कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप को दिया दो टूक जवाब

 

First published: 27 August 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी