Home » इंटरनेशनल » Britain will remain in eu or not uk residents will decide today
 

यूरोपियन यूनियन में ब्रिटेन के भविष्य पर जनमत संग्रह जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2016, 13:02 IST

ब्रिटेन यूरोपियन यूनियन (ईयू) का हिस्सा बना रहेगा या नहीं, इस पर गुरुवार को ब्रिटेन में जनमत संग्रह शुरू हो चुका है, जिसके नतीजे शुक्रवार को घोषित किए जाएंगे.

ब्रिटेन में होने वाले इस जनमत संग्रह पर न सिर्फ यूरोपीय देशों बल्कि भारत समेत पूरी दुनिया की नजर है. जनमत संग्रह के चुनाव परिणाम का असर बाजार के साथ ही यूरोप और पश्चिमी देशों के भविष्य पर भी पड़ सकता है.

डेविड कैमरन ईयू के पक्ष में

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन यूरोपीय यूनियन में बने रहने के पक्षधर हैं, जबकि लंदन के पूर्व मेयर बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन को ईयू से अलग करने की मुहिम छेड़ रखी है.

ये जनमत संग्रह लेबर पार्टी की महिला सांसद जो कॉक्स की हत्या के कुछ ही दिन बाद हो रहा है. इस घटना का भी चुनाव पर असर पड़ने की संभावना जताई जा रही है. कॉक्स यूरोपीय संघ में रहने की पक्षधर थीं.

शुक्रवार को जनमत संग्रह का रिजल्ट

शुक्रवार को जनमत संग्रह का परिणाम आने के बाद इस बात का फैसला हो जाएगा कि ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन का हिस्सा बने रहना चाहिए या नहीं.

मतदान गुरुवार को स्थानीय समयानुसार सुबह सात बजे (सुबह 6 बजे जीएमटी) शुरू होकर रात को 10 बजे (रात 9 बजे जीएमटी) तक जारी रहेगा और जिस भी पक्ष को कुल मतों में से आधे से ज़्यादा मत मिलेंगे, उसकी जीत मानी जाएगी.

अगर ब्रिटेन ईयू से अलग होता है, तो यह ईयू और ब्रिटेन के इतिहास की सबसे बड़ी घटना होगी. 28 देशों वाले ईयू से पहली बार कोई देश अलग होने की स्थिति में है. इन देशों में 51 करोड़ लोग (दुनिया की 7 फीसदी आबादी) रहते हैं.

क्या है यूरोपियन यूनियन?

ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के कार्यकाल में इस तरह का यह दूसरा जनमत संग्रह है. इससे पहले सितंबर 2014 में उन्होंने स्कॉटलैंड में यूके का हिस्सा बने रहने के लिए जनमत संग्रह कराया था. उन्होंने ही स्कॉटलैंड के नागरिकों से यूके को बनाए रखने की अपील की थी.

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद आर्थिक सहयोग बढ़ाने के लिए यूरोपियन यूनियन की योजना बनाई गई. यूरोपियन यूनियन 28 यूरोपीय देशों का संगठन है. जिसकी स्थापना 1957 में छह देशों बेल्जियम, फ्रांस, इटली, लक्जमबर्ग और नीदरलैंड्स ने मिलकर की थी. 1973 में ब्रिटेन यूरोपियन यूनियन में शामिल हुआ था.

यूरोपियन यूनियन के सभी सदस्य देशों की एक ही करेंसी है. ईयू में शामिल देश आपस में खुला कारोबार करते हैं और सभी सदस्य देशों के नागरिक एक-दूसरे के यहां रह सकते हैं, व्यापार और नौकरी कर सकते हैं. ईयू की अलग संसद और कैबिनेट भी है, जिसमें सभी देशों के प्रतिनिधि शामिल हैं.

First published: 23 June 2016, 13:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी