Home » इंटरनेशनल » Chemical attack kills dozens in northern Syria
 

सीरिया में भीषण केमिकल अटैक, 100 लोगों की मौत, 400 घायल

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2017, 9:42 IST
Syria

युद्ध से जर्जर सीरिया में पश्चिमोत्तर सीरिया के इदलिब प्रांत में मंगलवार को 'रासायनिक हमले' में 100 से अधिक लोगों के मारे जाने की खबर है. मरनेवालों में तकरीबन 11 बच्चे बताये जा रहे हैं. हमला विद्रोहियों के प्रभाव वाले इदलिब प्रांत के खान शेखहुन शहर में किया गया. यूनियन ऑफ मेडिकल केयर ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार सुबह के वक्त शहर के एक रिहायशी इलाके में करीब 40 बार हवाई हमले किए गए.

सीरियन ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स (एसओएचआर) ने बताया सीरियाई सरकार को हमले के लिए जिम्मेदार बताया है. संगठन के मुताबिक हमला होते ही ज्यादातर लोग चक्कर खाकर गिर पड़े, कुछ उल्टियां करने लगे तो कई के मुंह से झाग निकलने लगा. चिकित्सकीय मदद पहुंचने से पहले ही कई लोगों की दम घुटने से मौत हो गई.

मीडिया में आई कुछ तस्वीरों में बच्चे समेत कई लोगों के शव जमीन पर बिखरे दिखाई पड़ रहे हैं. हिंसा प्रभावित इलाके में आम लोगों की मदद करने वाले बचाव समूह ह्वाइट हेल्मेट की टीम घायलों पर पानी का छिड़काव करती भी दिखाई पड़ रही है. फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हमले के लिए इस्तेमाल किए गए विमान सीरियाई थे या सरकार के सहयोगी रूस के? घटना की संयुक्त राष्ट्र ने जांच शुरू की है.

इससे पहले मंगलवार को एक फेसबुक पोस्ट में कहा गया था कि क्लोरीन गैस वाले चार थर्मोबेरिक बम गिराए गए. रासायनिक हमले की यह रिपोर्ट सीरिया के भविष्य को लेकर ब्रसेल्स में दो दिवसीय सम्मेलन शुरू होने से पहले आई है, जिसका आयोजन यूरोपीय संघ व संयुक्त राष्ट्र की मेजबानी में हो रहा है. संयुक्त राष्ट्र ने औपचारिक तौर पर इस भीषण रासायनिक हमले की जांच शुरू कर दी है. दुनिया भर के नेताओं ने इस हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है.

 

syria chemical attack

छह साल से गृहयुद्ध से जूझ रहे सीरिया में यह सबसे भीषण रासायनिक हमला है. सीरियाई सरकार ने 2013 में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल न करने की संधि पर आधिकारिक रूप से हस्ताक्षर किए थे. लेकिन, समझौते के बाद भी उस पर रासायनिक हथियार का इस्तेमाल करने के आरोप लगते रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र की अगुआई में बनाए गए जांच दल के मुताबिक 2014 और 2015 में कम से कम तीन मौकों पर सीरियाई सरकार ने इस तरह के हमले किए थे.

First published: 5 April 2017, 9:42 IST
 
अगली कहानी