Home » इंटरनेशनल » China and Pakistan signed deal allowing Islamabad to import 48 drones and both countries will jointly manufacture them
 

S-400 के जवाब में पाकिस्तान ने चीन से मंगाए 48 मिलिट्री ड्रोन, इस खास तकनीक हैं लैस

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2018, 13:21 IST
(File Photo )

पाकिस्तान ने चीन के साथ सैन्य ड्रोन समझौता किया है. इसके तहत पाकिस्तान चीन से 48 सैन्य ड्रोन खरीदेगा. ये ड्रोन हर मौसम में उड़ान भर सकते हैं. पाकिस्तानी सेना ने इस डील को अब तक की सबसे डील बताया है. हालांकि अभी तक ड्रोन डील की कीमत का खुलासा नहीं किया गया है. इसके साथ ही चीन और पाकिस्तान मिलकर ड्रोन बनाएंगे. बता दें कि भारत की रूस के साथ एस-400 मिसाइल डील के बाद पाकिस्तान ने ये डील साइन की है.

चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, चीन के इस अत्याधुनिक ड्रोन का नाम विंग लूंग-2 है, जो जासूसी के साथ हमला भी कर सकता है. इसका निर्माण चेंगदू एयरक्राफ्ट इंडस्ट्रियल कंपनी ने किया है. अब पाकिस्तान को दिए जाने वाले ड्रोन का निर्माण पाकिस्तान की एयरोनॉटिकल कॉम्प्लेक्स और चीन एविएशन इंडस्ट्री कोऑपरेशन मिलकर करेंगे. पाकिस्तान ने चीन के साथ के साथ ये समझौता भारत-रूस एस 400 मिसाइल समझौते के बाद किया है.

चीनी मिलिस्ट्री एक्सपर्ट का कहना है कि चीन पाकिस्तानी सेना को सबसे ज्यादा हथियार सप्लाई करने वाला पहले देश है. इसके अलावा दोनों देश संयुक्त रूप से सिंगल इंजन वाला लड़ाकू विमान भी बना रहे हैं. वहीं, पाकिस्तानी एयरफोर्स शेरदिल्स एयरोबैटिक टीम ने अपने आधिकारिक पेज पर ड्रोन की खरीदारी संबंधित पोस्ट भी किया.

ये भी पढ़ें- S-400 मिसाइल डील पर लगी मुहर, 400KM दूर से ही दुश्मन की मिसाइल होगी ध्वस्त

First published: 9 October 2018, 13:21 IST
 
अगली कहानी